scriptपुलिस के मुखबिर होने के संदेह में माओवादियों ने दंपती को मौत के घाट उतारा | Maoists killed couple on suspicion of being police informers | Patrika News
भुवनेश्वर

पुलिस के मुखबिर होने के संदेह में माओवादियों ने दंपती को मौत के घाट उतारा

कंधमाल जिले में माओवादियों ने एक बार फिर सिर उठाया है। पुलिस के मुखबिर होने के संदेह में माओवादियों ने एक दंपती को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस के मुताबिक दंपती को पहले बेरहमी से पीटा गया। उनके शव शनिवार सुबह जंगल से बरामद किये गये। पुलिस ने बताया कि मामले में जांच की जा रही है।

भुवनेश्वरMar 09, 2024 / 10:14 pm

Rabindra Rai

पुलिस के मुखबिर होने के संदेह में माओवादियों ने दंपती को मौत के घाट उतारा

पुलिस के मुखबिर होने के संदेह में माओवादियों ने दंपती को मौत के घाट उतारा

ओडिशा में माओवादियों ने फिर उठाया सिर
ओडिशा के कंधमाल जिले में माओवादियों ने एक बार फिर सिर उठाया है। पुलिस के मुखबिर होने के संदेह में माओवादियों ने एक दंपती को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस के मुताबिक दंपती को पहले बेरहमी से पीटा गया। उनके शव शनिवार सुबह जंगल से बरामद किये गये। पुलिस ने बताया कि मामले में जांच की जा रही है। संदिग्ध माओवादियों ने दंपती की कथित तौर पर हत्या कर दी। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी।

घर से बाहर निकाला, ले गए नजदीकी जंगलों में
पुलिस ने बताया कि घटना शुक्रवार रात करीब नौ बजे गोछापाड़ा थाना क्षेत्र के सलागुड़ा पंचायत के बिदापदर गांव में हुई। पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि इस घटना के पीछे भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-माओवादी (भाकपा-माओवादी) की कालाहांडी-कंधमाल-बौध-नयागढ़ (केकेबीएन) इकाई का हाथ है। पुलिस ने बताया कि माओवादियों ने दाहिरा कन्हार और उनकी पत्नी बतासी कन्हार को उनके घर से बाहर निकाला और उन्हें नजदीकी जंगलों में ले गये। माओवादियों को दंपती पर पुलिस के मुखबिर होने का संदेह था।

Hindi News/ Bhubaneswar / पुलिस के मुखबिर होने के संदेह में माओवादियों ने दंपती को मौत के घाट उतारा

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो