script चीन में फैल रहे निमोनिया को लेकर अलर्ट, शिशु अस्पताल की ओपीडी 600 पार | Alert regarding pneumonia failing in China | Patrika News

चीन में फैल रहे निमोनिया को लेकर अलर्ट, शिशु अस्पताल की ओपीडी 600 पार

locationबीकानेरPublished: Dec 01, 2023 05:50:46 pm

Submitted by:

dinesh kumar swami

सर्दी-खांसी जुकाम व बुखार के मरीज बढ़े: खासकर बच्चों में निमोनिया होने से उन्हें भर्ती करने की नौबत भी आ रही है।

चीन में फैल रहे निमोनिया को लेकर अलर्ट, शिशु अस्पताल की ओपीडी 600 पार
शिशु अस्पताल का ओपीडी इन दिनों 600 के मरीज पहुंच गया है।

कोविड महामारी के बाद एक बार फिर चीन में फैल रही नई बीमारी ने प्रदेश और देश को चिंता में डाल दिया है। चीन में पिछले कुछ हफ्तों से निमोनिया के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। खासकर बच्चों में निमोनिया होने से उन्हें भर्ती करने की नौबत भी आ रही है।

बच्चों में निमोनिया की बीमारी बढ़ने के साथ ही भारत में स्वास्थ्य मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी कर दी है। इसी के चलते प्रदेश सरकार ने भी सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों एवं मेडिकल कॉलेज प्रबंधकों को स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए हैं।

इस संबंध में वीडिफो कांफ्रेंस में जिले कि स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक, सीएमएचओ एवं मेडिकल कॉलेज प्रार्चाय, पीबीएम के वरिष्ठ चिकित्सक शामिल हुए।

धीरे-धीरे बढ़ रहे मरीज

पीबीएम के शिशु अस्पताल के वरिष्ठ आचार्य एवं पूर्व पीबीएम अधीक्षक डॉ. पीके बैरवाल के मुताबिक शिशु अस्पताल का ओपीडी इन दिनों 600 के मरीज पहुंच गया है। हर माह 175 से 210 बच्चों को भर्ती किया जा रहा है, जिसमें से निमोनिया व बुखार के 150-200 मरीज होते हैं।

हर माह निमोनिया पीडि़त चार से पांच बच्चों की मौत हो रही है। शिशु अस्पताल में शिशुओं के इलाज के लिए पर्याप्त व्यवस्थाएं हैं। एक मौसमी वार्ड बनाया हुआ है। दो आईसीयू हैं। 30 बेड का आईसीयू चालू है। 100 से अधिक वेंटीलेटर हैं। सीपेट, ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर, मॉनिटर, ऑक्सीजन एवं दवाओं आदि की पर्याप्त व्यवस्थाएं हैं।

यह सावधानी बरतें अभिभावक

- सर्दी से बच्चों का बचाव रखें, गर्म कपड़े पहनाएं।- खाने-पीने में ठंडी चीजें नहीं दें।

- गर्म खाना खिलाएं, शरीर को ढक कर रखें।- भीड-भाड़ वाले इलाकों में जाने से रोकें।

- पहले से खांसी-जुकाम से पीडि़त लोगों से बच्चों को दूर रखें।- बच्चे को खांसी जुकाम है तो उसे स्कूल ना भेजे

- गर्म व पौष्टिक खाना देवें- गर्म पानी का सेवन ज्यादा करें

- मास्क लगाकर रखें

वायरस है या बैक्टिरियां स्पष्ट नहीं

चीन में फैल रहे निमोनिया को लेकर स्वास्थ्य अधिकारी भी अभी तक स्पष्ट नहीं है कि यह वायरस है या बैक्टिरियां। पहले इसे एन9एन2 वायरस कहा जा रहा था जो इन्फ्लूएंजा ए वायरस का उपक्रम है। यह वायरस इंसानों से इंसानों में तेजी से फैलता है। इसी के चलते प्रदेशभर में चिकित्सा विभाग अलर्ट हो गया है।

पैनिक होने की जरूरत नहीं

निमोनियो को लेकर अलर्ट जारी किया गया। इस संबंध स्वास्थ्य के उच्चाधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंस की है, जिसमें दिशा-निर्देश दिए हैं। बीकानेर जिले में अभी तक निमोनिया का असर नही है। रुटीन के मरीज ही आ रहे हैं। इसके बावजूद शिशु अस्पताल एवं मेडिसिन विभाग के चिकित्सकों की बैठक लेकर व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने की हिदायत दी गई है। आमजन को निमोनिया को लेकर पैनिक होने की जरूरत नहीं है। चिकित्सा व्यवस्थाएं दुरस्त-चुरुस्त है।डॉ. गुंजन सोनी, प्राचार्य एसपी मेडिकल कॉलेज

ट्रेंडिंग वीडियो