फटाफट क्रिकेट की मची धूम, सटोरिये हुए सक्रिय

पुलिस की अनदेखी, आमजन पर भारी
अब तक हो चुके सात मैच

By: Jaiprakash

Published: 18 Apr 2021, 02:53 PM IST

बीकानेर। क्रिकेट का महाकुंभ आईपीएल शुरू हुए सप्ताहभर बीत चुका है। जिले में शहर से गांव तक युवाओं में क्रिकेट की खुमारी चढ़ी हुई है। सटोरियों ने अपने ठिकाने तय कर लिए हैं। हर दिन क्रिकेट मैच पर करोड़ों रुपए का सट्टा लग रहा है।

इस बार रुझान बड़ों का रुझान कम
क्रिकेट सूत्रों के मुताबिक इस बार क्रिकेट का महाकुंभ चल रहा है लेकिन कोरोना के कारण आर्थिक मंदी छाई हुई है। क्रिकेट के मैचों पर पिछले साल और लॉकडाउन से पहले जो तेजी थी वह इस साल नहीं है। कई बड़े लोगों ने इस बार ब्याज पर रुपया लेकर धंधा कर रहे हैं। बीकानेर में कई सटोरियों ने दूसरे राज्यों से लाइन ले रखी है। बड़े स्टोरियों ने बीकानेर से बाहर ठिकाने बना रखे हैं वहीं यहां छोटे-छोटे बुकियों को लाइनें देकर काम किया जा रहा है।

पकड़े गए थे बीकानेर के सटोरिये
स्थानीय स्टोरिये पिछले दो-तीन साल से ट्वेंटी-२० क्रिकेट, विश्वकप क्रिकेट के दौरान पहले से दूसरे जिलों में अपनी फिल्डिंग जचा लेते हैं। यहां वे लाइनें देकर अपने गुर्गों से काम करवाते हैं। गुर्गे हर दिन मैच के बाद हिसाब-किताब का जोड़-तोड़ कर आकाओं को देते हैं। स्थानीय स्तर पर थानों में उनके संबंध प्रगाढ़ होने से कार्रवाई न के बराबर होती है। पिछली बार जिले से बड़े स्टोरियों ने जयपुर, जोधपुर, फलौदी, नागपुर, श्रीगंगानगर, सीकर सहित अन्य जगहों पर अपने ठिकानें बना लिए थे। पिछली बार जयपुर में बीकानेर आठ से १० बड़े स्टोरिये पुलिस के हत्थे चढ़े थे।

यहां-यहां चल रहा क्रिकेट सट्टा
जिले में कई जगहों पर क्रिकेट सट्टा चल रहा है। इनमें सिटी कोतवाली, कोटगेट, गंगाशहर, लूणकरनसर, नोखा, श्रीडूंगरगढ़, छतरगढ़ आदि थाना क्षेत्रों में कई जगहों पर क्रिकेट सट्टा चल रहा है। सट्टा चलने की खबर आमजन को है लेकिन बीकानेर पुलिस को नहीं है। इतना ही नहीं इस बार पुलिस क्रिकेट सट्टे को लेकर काफी सुस्त है। सूत्र बताते हैं कि पिछली कार एक-दो थाना क्षेत्रों में क्रिकेट सटोरियों ने अपना ठिकाना बनाया था। पुलिस ने बीकानेर जिलेभर में महज सात कार्रवाई की थी लेकिन एक भी नामी सटोरिये को पुलिस ने नहीं पकड़ा था।

हर दिन २० से २५ करोड़ का सट्टा
क्रिकेट से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि इस बार क्रिकेट सट्टा कोरोना की वजह से फीका है। फिर भी हर दिन २० से २५ करोड़ रुपए का सट्टा लग रहा है। इस क्रिकेट महाकुंभ में करीब २०० से २५० करोड़ का सट्टा होने की उम्मीद है। इस बार पैसा भी कम है और सट्टा करने वाले भी कम हैं।

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned