युवा वर्ग को एकजुट व प्रेरित करने का माध्यम हैं शॉर्ट फिल्में

युवा वर्ग को एकजुट व प्रेरित करने का माध्यम हैं शॉर्ट फिल्में

dinesh swami | Publish: Sep, 03 2018 10:22:10 AM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

बीकानेर. गंगाशहर स्थित आशीर्वाद भवन में रविवार को आचार्य तुलसी शॉर्ट फि ल्म फेस्टिवल का तृतीय संस्करण का समापन हो गया। कार्यक्रम में अभिनेता अमित बहल ने कहा कि शॉर्ट फिल्में युवा वर्ग को एकजुट और प्रेरित करने का एक माध्यम है, क्योंकि युवा सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताता है।

बीकानेर. गंगाशहर स्थित आशीर्वाद भवन में रविवार को आचार्य तुलसी शॉर्ट फि ल्म फेस्टिवल का तृतीय संस्करण का समापन हो गया। कार्यक्रम में अभिनेता अमित बहल ने कहा कि शॉर्ट फिल्में युवा वर्ग को एकजुट और प्रेरित करने का एक माध्यम है, क्योंकि युवा सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताता है। अगर नैतिकता, सामाजिक बुराइयों को दूर करने, स्वच्छता, अहिंसा जैसे मुद्दों पर आधारित शॉर्ट फि ल्में बनेंगी, तो इससे युवाओं को प्रेरित करने का सुनहरा मौका मिलेगा।

निदेशक मोहनदास ने कहा कि शॉर्ट फि ल्मों के माध्यम से देश ही नहीं, विदेशों तक संदेश पहुंचा सकते है। उन्होंने इच्छा जताई कि बीकानेर से भी शॉर्ट फि ल्में बनें। अभिनेत्री खुशबू सावन ने कहा कि नैतिकता, अहिंसा जैसे विषयों पर बनाई गई शॉर्ट फि ल्मों से युवा वर्ग के सामने बड़ा संदेश दे सकते हैं। राजुवास के पूर्व कुलपति डॉ. एके गहलोत ने कहा कि बीकानेर के युवा भी शॉर्ट फि ल्मों के निर्देशन में आगे आएं। फेस्टिवल के पैटर्न टीएम लालाणी ने कहा कि फि ल्मों का उद्देश्य भी समझ में आना चाहिए। शिक्षाविद् अशोक चोरडिय़ा, आचार्य तुलसी शांति प्रतिष्ठान के अध्यक्ष जैन लूणकरण छाजेड़ ने भी विचार रखे।

 

इनका हुआ सम्मान
समन्वयक गोपालसिंह ने बताया कि फि ल्म फेस्टिवल के ज्यूरी नाटक शान्ति और प्रिंस, लक्ष्य तथा कई फि ल्मों में अभिनय कर चुके अमित बहल का विशाल मलिक ने, 'टॉयलेट एक प्रेम कथाÓ की अदाकारा एवं मॉडल खुशबू सावन का प्रज्ञा नौलखा, ऐश्वर्या बोथरा, गरिमा, कोमल ने, निदेशक मोहनदास का सीए सुधीश शर्मा, मुख्य रेल प्रबंधक एके दुबे का चैनराज ने, एके गहलोत का रायचन्द ने, लालाणी का बसंत नौलखा ने, अशोक चौरडिय़ा का बसंत जैन ने जैन पताका, स्मृति चिन्ह व साहित्य भेंट कर सम्मान किया। संयोजक चौहान ने बताया कि बीकानेर के फिल्मकारों ने भी बड़ी संख्या में फिल्में भेजी, उन्हें सर्टिफिकेट दिया गया।

 

सीए सुधीश शर्मा की डॉक्यूमेंट्री प्रदर्शित
समारोह में ऑवर फॉर नेशन के सीए सुधीश शर्मा की स्वच्छता मिशन पर बनाई गई डॉक्यूमेंट्री फिल्म को प्रदर्शित किया गया। साथ ही ऑवर फॉर नेशन के सभी सदस्यों को सम्मानित किया गया। समारोह में आचार्य तुलसी पर आधारित तुलसी थानै महाप्रणाम गीत का विमोचन भी किया गया। इस गीत को राजनारायण पुरोहित ने गाया है और संजय पुरोहित ने लिखा है।

 

ये रहे विजेता
फेस्टिवल में पांच कैटेगरी में फि ल्मों का विभाजन किया गया। इसमें शॉर्ट फि ल्म इंडियन में प्रथम स्थान पर अच्छे दिन, द्वितीय स्थान पर फोटोग्राफी तथा तृतीय स्थान पर अनकपल्ड रही। डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट फि ल्म में प्रथम स्थान पर इकॉनोमी ड्राइवर, द्वितीय स्थान पर यमुना : ड्राइंग फ्राइड तथा तृतीय स्थान पर चाय ईरानी कैफे रही। आचार्य तुलसी शॉर्ट फि ल्म कैटेगरी में द्वितीय स्थान पर बदलाव एक प्रेरणा तथा इन्क्रेडेबल कचौली रही। एनिमेशन शॉर्ट फि ल्म में प्रथम स्थान पर इलेक्शन तथा द्वितीय स्थान पर एंट डॉट स्पेयर बट दे वर्क थ्योरी रही। इन्टरनेशनल शॉर्ट फि ल्मों में लिटिल थिंक प्रथम रही। इंस्टीट्यूशनल शॉर्ट फि ल्म में प्रथम स्थान पर पसुयावरगल प्यार, द्वितीय स्थान पर जीएसएलवी मार्क-3 तथा तृतीय स्थान पर राबता रही।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned