मृत्यु भोज बंद करने का निर्णय

नोखा माली समाज समेत सर्व समाज की बैठक रविवार को आयोजित हुई

By: Jaiprakash

Published: 13 Jul 2020, 09:25 AM IST

नोखा। नोखा माली समाज समेत सर्व समाज की बैठक रविवार को आयोजित हुई, जिसमें मृत्युभोज को बंद करने का निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए महावीर प्रसाद खडग़ावत ने बताया कि सर्वसम्मति से नोखा में मत्यु भोज जैसी कुप्रथा को बंद करने का निर्णय लिया है। इसकी शुरुआत महावीर प्रसाद ने खुद से ही की है। महावीर प्रसाद की पत्नी का चार जुलाई को निधन हो गया था। अब उन्होंने किए जाने वाले मृत्युभोज को नहीं करने का निर्णय लिया है। इनके इस निर्णय को सभी ने समर्थन दिया है।


बैठक में मौजूद बुजुुर्गों ने कहा कि ऐसा दिखावा किस काम काए जो गरीब को कर्जदार बना दे। ऐसी कुप्रथा बंद होनी चाहिए। एक ब्राह्मण को भोजन कराना ही पर्याप्त है। कोई भी कुप्रथा कभी भी धर्म सम्मतए शास्त्र सम्मत नहीं हो सकती। मृत्युभोज की बजाए आप गरीबों को दान कर दें या जनहित का कोई काम करवा दें। जिले के कई लोगोंए समाज प्रमुखों ने मृत्युभोज में शामिल न होने का संकल्प लिया है। संतों.महात्माओं ने कहा कि घर में किसी के निधन पर मृत्युभोज एक सामाजिक कुरीति है। इससे अच्छा ब्राह्मणों को भोजन कराएंए गायों को चारा और पक्षियों को दाना दें।

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned