प्रदेश के 1714 विद्यालयों में इस कारण नहीं हुए प्रयोग, ना ही हुए प्रयोगशाला किट वितरित

8118 स्कूलों में ये प्रयोगशाला किट वितरित किए जाने थे

By: अनुश्री जोशी

Published: 25 Apr 2018, 10:24 AM IST

सरकार की ओर से घोषित योजनाओं को क्रियान्वित करने में अधिकारियों की लेट-लतीफी के कारण उन योजनाओं का लाभ लोगों तक समय पर नही पहुंच पाता, जिसके कारण सरकारी योजनाएं धरातल पर पहुंचते-पहुंचते ही दम तोड़ देती है। ऐसी ही बानगी शिक्षा विभाग में देखने को मिल रही है।

 

सरकार ने राज्य की सभी उत्कृष्ट विद्यालयों व प्रथम चरण की आदर्श स्कूलों में एसएसए के माध्यम से विज्ञान विषय की प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए एबीएल किट वितरित करने की घोषणा की थी। राज्य में ऐसी कुल 8118 स्कूलों में ये प्रयोगशाला किट वितरित किए जाने थे लेकिन शिक्षण सत्र समाप्त होने तक राज्य की 1714 स्कूलों में अभी तक भी ये प्रयोगशाला किट स्कूलों में नही पहुंचे हैं। इसे राजस्थान प्रारंभिक शिक्षा परिषद के आयुक्त ने गंभीरता से लिया है।

 

आयुक्त ने एसएसए के जिला परियोजना समन्वयकों और अतिरिक्त परियोजना समन्वयकों के गंभीर नहीं होने पर नाराजगी जताई है। आयुक्त ने ऐसी 1714 स्कूलों की जानकारी देते हुए इन शेष रही स्कूलों में 28 अप्रेल तक प्रयोगशाला के एबीएल किट वितरित कर सूचना भेजने के निर्देश दिए हैं।

 

जिले के 49 स्कूल रहे वंचित
जिले की 49 उत्कृष्ट एवं प्रथम चरण की आदर्श विद्यालयों में प्रयोगशाला किट वितरित नहीं किए गए हैं। जिला परियोजना समन्वयक एवं प्रारंभिक जिला शिक्षा अधिकारी ने अतिरिक्त परियोजना समन्वयक एसएसए को जिले में शेष रही स्कूलों में शीघ्र प्रयोगशाला किट वितरित कर राज्य प्रारंभिक शिक्षा परिषद को निर्धारित तिथि तक सूचना भेजने के निर्देश दिए हैं।

 

क्रीड़ा शुल्क जमा होने पर ही होगा परिणाम अनुमोदन
प्रारंभिक जिला शिक्षा अधिकारी ने निजी शिक्षण संस्थाओं को हिदायत दी है कि क्रीडा शुल्क जमा करवाने पर ही उनके स्कूलों के परीक्षा परिणाम का अनुमोदन होगा। इससे पहले उपनिदेशक ने निर्देश जारी किया था कि अब कोई भी निजी संस्था प्रधान या शिक्षक स्कूल फीस जमा कराने के लिए किसी भी बच्चे पर दवाब नहीं डाल सकेगा।

 

उपनिदेशक ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को इसकी पालना कराने के आदेश जारी किए थे। जिला शिक्षा अधिकारी का कहना है कि निजी स्कूलों का सत्र 2017-18 का वार्षिक परीक्षा परिणाम का अनुमोदन तभी किया जाएगा, जब वे क्रीड़ा शुल्क की रसीद परीक्षा परिणाम के अनुमोदन के समय प्रस्तुत करेंगे।

Show More
अनुश्री जोशी
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned