scriptfraud with farmers | बाजार भाव से ज्यादा मूल्य देकर खरीदते थे अनाज, करोड़ों रुपए लेकर हुए फरार | Patrika News

बाजार भाव से ज्यादा मूल्य देकर खरीदते थे अनाज, करोड़ों रुपए लेकर हुए फरार

locationबीकानेरPublished: Feb 03, 2024 12:47:38 am

Submitted by:

Hari Singh

रणजीतपुरा थाने में दो जनों के खिलाफ मामला दर्ज

बाजार भाव से ज्यादा मूल्य देकर खरीदते थे अनाज, करोड़ों रुपए लेकर हुए फरार
बाजार भाव से ज्यादा मूल्य देकर खरीदते थे अनाज, करोड़ों रुपए लेकर हुए फरार

बज्जू. रणजीतपुरा थाना क्षेत्र के राववाला व रणजीतपुरा गांव में दो व्यापारी बाजार भाव से ज्यादा मूल्य देकर अनाज खरीदते थे। अब मौका मिलते ही सैंकड़ों किसानों के करोड़ों रुपए लेकर फरार हो गए। इस संबंध में रणजीतपुरा थाने में मामला दर्ज हुआ है। शुक्रवार को बड़ी संख्या में किसानों ने रणजीतपुरा थाने में पहुंचकर जल्द कार्रवाई की मांग की है। इस पर पुलिस ने टीमों का गठन कर दिया है। जानकारी के अनुसार आरोपी दोनों रिश्ते में मामा भानजा है, जिन्होंने अलग अलग जगह पर काम शुरू किया था।

बड़ी संख्या में जुड़े किसानकिसानों ने बताया कि दोनों व्यापारी अनाज मंडियों से अधिक भाव में अनाज खरीदते थे। इससे पिछले एक दशक से क्षेत्र के सैंकड़ों किसान इनसे जुड़ गए थे और भारी तादाद में खाते भी जुड़ गए थे। ये व्यापारी आसपास की मंडियों से ज्यादा भाव बताते थे, जिससे किसान भी ज्यादा भाव के लालच में आकर अनाज इन्ही के पास लेकर जाते थे। ऐसे में रणजीतपुरा व राववाला आसपास के क्षेत्र में बड़ी संख्या में किसानों का जुड़ाव इनसे हो गया था। कई बार तो किसान बज्जू मंडी सहित अन्य जगह पर अनाज बेचने के बजाय इन्हें ही को बेचकर जाते थे।

मेडिकल से आढ़त तक कारोबार

जानकारी के अनुसार अनेशसिंह खींची, श्रवण बिश्नोई व सत्यवानसिंह ने पिछले लंबे समय से राववाला में कारोबार कर रहे थे। अनेशसिंह ने राववाला में श्रवण बिश्नोई के साथ संयुक्त कारोबार शुरू किया। पहले मेडिकल की दुकान की और बाद में आढ़त का काम शुरू किया। सत्यवानसिंह ने भी रणजीतपुरा में मेडिकल के बाद आढ़त काम शुरू किया। पिछले एक दशक से ज्यादा समय से आढ़त व मेडिकल का काम देखते थे। अब करोड़ो की चपत लगाकर चले गए।

थाना में गिरफ्तारी को लेकर जमा हुई भीड़

मामले को लेकर सरपंच सुजानसिंह सोढा, सरपंच पुन्नू खां, यासीन खां, फतूखां,तेजा राम, आम्बा राम, प्रहलाद राम, भागीरथ, मदन बिश्नोई, जगमाल राम रैण आदि ने थानाप्रभारी रणजीतपुरा चंद्रजीतसिंह से मिल कर फरार व्यापारियों को गिरफ्तार करने की मांग रखी और सभी किसानों की तरफ से मामला दर्ज की बात रखी। इस पर थानाप्रभारी ने ग्रुप में मामले दर्ज करने की सहमति दी और मामले दर्ज किए गए।

कार्रवाई शुरू कर दी है

थानाप्रभारी चंद्रजीतसिंह ने बताया कि किसानों की मांग को लेकर जांच शुरू कर दी है। इसके लिए दो टीमों का भी गठन कर दिया है। व्यापारियों के मोबाइल बंद मिल रहे हैं। उनके परिवार वालों तक पहुंचा जा रहा है। अब उन्होंने बड़ी राशि के चपत लगाई। इसको लेकर उनकी गिरफ्तारी पर ही स्पष्ट होगा।

पूर्व में दर्ज हो चुके हैं मामले

किसान खेत से मंडी तक अनाज लाने के लालच व ज्यादा राशि मिलने के चक्कर में छोटे छोटे दुकानदारों व खेत में आए लोगों को अपना अनाज बेच देते हैं। बाहर से आए व्यापारियों का ऐसा सिलसिला कई वर्षों तक चलता रहता है। इसके बाद किसानों को विश्वास जीत लिया जाता है और किसानों को आगामी समय में धीरे धीरे भुगतान का काम शुरू कर दिया जाता है। इसके बाद फरार हो जाते है। पूर्व में भी क्षेत्र में ऐसे मामले हो चुके है।

ट्रेंडिंग वीडियो