#ShuddhkaYuddha : किसी भी पोस्ट पर प्रतिक्रिया से पहले जांच लेंवे उसकी सत्यता

dinesh swami | Publish: Nov, 11 2018 08:44:50 AM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

राजस्थान पत्रिका और फेसबुक के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार को 'शुद्ध का युद्धÓ अभियान के तहत पत्रिका ऑडिटोरियम में फेक न्यूज पर परिचर्चा का आयोजन किया गया। बीकानेर संस्करण के संपादकीय प्रभारी हरेन्द्र सिंह बगवाड़ा ने पीपीटी के माध्यम से फेक न्यूज के विभिन्न पहलुओं की जानकारी दी।

बीकानेर. राजस्थान पत्रिका और फेसबुक के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार को 'शुद्ध का युद्धÓ अभियान के तहत पत्रिका ऑडिटोरियम में फेक न्यूज पर परिचर्चा का आयोजन किया गया। बीकानेर संस्करण के संपादकीय प्रभारी हरेन्द्र सिंह बगवाड़ा ने पीपीटी के माध्यम से फेक न्यूज के विभिन्न पहलुओं की जानकारी दी। उन्होंने फेक न्यूज की पहचान के लिए तथ्य, राय और अफवाह पर विस्तृत प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि अगर आपको लगे कि कोई न्यूज अविश्वसनीय लगे तो उसकी जांच जरूर करें।

 

सोशल मीडिया पर या अन्य किसी माध्यम से मिलने वाली सूचना की सत्यता जांचने के बाद ही किसी भी तरह की प्रतिक्रिया देंवे। उन्होंने कहा कि जागरुकता और गहराई से जांच कर ही फेक न्यूज पर रोक लगाई जा सकती है। बिना जांचे, परखे किसी भी न्यूज को पास आउट करने से पहले उसकी सही जांच करने पर भी जानकारी दी। फेसबुक, वाट्सएेप सहित अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म भी फेक न्यूज पर रोकथाम लगाने के लिए भरसक प्रयास कर रहे है। प्रभावी रोक आमजन में जागरूकता से ही संभव होगी।

 

नुक्कड़ नाटक से दिया संदेश
जस्सूसर गेट के बाहर राजस्थान पत्रिका और फेसबुक की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित नुक्कड़ सभा में रंगकर्मियों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से फेक न्यूज पर आम लोगों को जागरूक किया। नुक्कड़ नाटक के मंचन के दौरान कलाकारों ने गीत, दोहों, कविताओं और संवादों के माध्यम से आमजन को बताया कि फेक न्यूज किस प्रकार का प्रभाव डालती है। कलाकारों ने विशेष हाव-भाव और नृत्यों के माध्यम से नाटक की प्रभावी प्रस्तुति दी। शहरवासियों ने फेक न्यूज पर रोक लगाने का संकल्प लिया। नाटक मंचन में रंगकर्मी केके रंगा, ठाकुरदास स्वामी, सौरभ आचार्य, जयकिशन, राधेश्याम, सुरेन्द्र पारीक और आशीष ने प्रभावी अभिनय किया।

 

 


जनता के विजन पर दिए सुझाव
पत्रिका ऑडिटोरियम में जन एजेंडा २०१८-२०२३ पर जिले के प्रबुद्ध लोगों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने विचार विमर्श किया। राजनीतिक दलों के घोषणा पत्र से इतर जनता के घोषणा पत्र और विधानसभा क्षेत्रों की समस्याओं, मुद्दों और जरूरतों पर अपने विचार रखे।

 

उन्होंने पत्रिका के विधानसभावार तैयार किए गए जन एजेंडा पर बिन्दूवार चर्चा की और विधानसभा चुनाव के दौरान जनता के बीच आने वाले प्रत्याशियों के समक्ष एजेंडे को रखने की घोषणा की। परिचर्चा में प्रबुद्ध लोगों ने शिक्षा, स्वास्थ्य, उच्च शिक्षा के क्षेत्र में संसाधनों का विकास, आधारभूत विकास, चिकित्सा, स्वच्छता, नई कॉलोनियों के विकास, सार्वजनिक प्रकाश व्यवस्था, रेल फाटक समस्या, मूलभूत सुविधाएं, औद्योगिक विकास, युवाओं को अधिकाधिक रोजगार, निराश्रित पशु की समस्या के समाधान को प्राथमिकता में रखा। इस दौरान लम्बित मुद्दों पर भी सवाल उठाए गए।

 

जन एजेण्डा अभियान पर चर्चा में चेयरपर्सन डब्ल्यूपीएसएच प्रभा भार्गव, समाज सेविका अर्चना थानवी, सेवानिवृत्त प्राचार्या डूंगर कॉलेज डॉ. बेला भनोत, सीए सुधीश शर्मा, सेवानिवृत्त कर्नल अशोक सिंह, स्पिक मैके के राज्य सचिव दामोदर तंवर, सेवानिवृत्त मेजर श्यामवीर सिंह, सेवानिवृत्त प्रोफेसर डॉ. अजय जोशी, व्याख्याता डॉ. रेणुका व्यास, सेनि लेखाधिकारी गंगासिंह राघव, फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. अमित पुरोहित, रंगकर्मी विपिन पुरोहित, पार्षद आदर्श शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता ज्ञान प्रकाश बारासा, कर्मचारी नेता शिवलाल तेजी, शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े कन्हैया मिश्रा, योगाचार्य दीपक शर्मा, असंगठित मजदूर यूनियन के नवीन आचार्य, अरुण व्यास, अरुण कल्ला, गिरिराज पारीक, आशा पारीक, गौरीशंकर जोशी ने विचार रखे।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned