बिलासपुर जिले में बनेंगे नए तहसील, बोदरी, सीपत और कई नाम शामिल

- सीपत में दो राजस्व निरीक्षक मंडल के 17 पटवारी हल्का शामिल होंगे, बिल्हा के 13 पटवारी हल्का के 32 गांव नए तहसील में शामिल होगा।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 23 Feb 2021, 06:52 PM IST

बिलासपुर . बोदरी एवं सीपत को नया तहसील बनाया जाएगा। इसके लिए छत्तीसगढ़ राजपत्र में प्रकाशन किया गया है। सीपत के प्रस्तावित तहसील में शामिल होने वाले पटवारी हल्का नंबर को लेकर दावा आपत्ति की अवधि समाप्त हो गई है। बोदरी तहसील में शामिल करने वाले पटवारी हल्का नंबर को शामिल करने की दावा-आपत्ति के लिए सात दिनों का समय बचा है।

इन दोनों तहसील के अस्तित्व में आने के साथ ही जिले में तहसील की संख्या दस हो जाएगी। राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के संयुक्त सचिव एमआर ठाकुर की तरफ से राजपत्र में नए तहसील को लेकर सूचना का प्रकाशन किया गया है।

जिले में बिलासपुर, बिल्हा, मस्तूरी ,कोटा ,तखतपुर पुराने तहसील है। तीन नए तहसील हाल में सकरी,बेलगहना और रतनपुर को बनाया गया है। अब बोदरी और सीपत को नया तहसील बनाने की तैयारी चल रहीं है। बिल्हा तहसील के 12 पटवारी हल्का के 32 गांवों को बोदरी तहसील में शामिल करने का प्रस्ताव है। इनमें राजस्व निरीक्षक मंडल बोदरी के पटवारी हल्का नंबर 1,2,3,4,6,7,8 एवं 29 को शामिल किया गया है। राजस्व निरीक्षक मंडल बिल्हा के पटवारी हल्का नंबर 9,10,11 एवं राजस्व निरीक्षक मंडल बरतोरी के पटवारी हल्का नंबर 5 व 26 को शामिल किया गया है।

नए तहसील की सीमाएं
बोदरी तहसील के उत्तर में बिलासपुर तहसील, दक्षिण में बिल्हा तहसील,पूर्व में मस्तूरी तहसील एवं पश्चिम तहसील तखतपुर की सीमाएं रहेगी।

बोदरी तहसील में 32 गांव शामिल
नए तहसील बोदरी में जिन नगर पंचायत व गांवों को शामिल किया जाएगा । इनमें नगर पंचायत बोदरी, चकरभाठा, नगपुरा ,नगरौड़ी, हरदीकला, पोड़ी(स ) सिलपहरी, कुंआ,सरवानी, बुंदेला, सारधा, कड़ार, धमनी, कया, भटगांव, सेंवार, मुढ़ीपार, तेलसरा, रहंगी, वीरान, पेंड्रीडीह, मोहभ_ा,झलफा, हरदी, बोड़सरा, पिरैया, लिमतरी, मगरउछला ग्राम पंचायतें शामिल है।

दावा-आपत्ति के लिए 7 दिन बचे
प्रस्तावित बोदरी तहसील में शामिल होने वाले पटवारी हल्का नंबर के गांवों को लेकर दावा-आपत्ति करने की अवधि केवल सात दिन शेष बचे है। छत्तीसगढ़ राजपत्र में नए तहसील बनाने को लेकर 30 दिसंबर 20 को सूचना का प्रकाशन किया गया। इसमें दावा-आपत्ति को लेकर 60 दिनों का समय निर्धारित किया गया। आपत्ति ,सुझाव सचिव,राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग छत्तीसगढ़ शासन ,मंत्रालयमहानदी भवन ,कैपिटल काम्पलेक्स नया रायपुर अटल नगर में किया जा सकेगा।

सीपत तहसील में 51 गांव शामिल होगा
मस्तूरी तहसील के अंतर्गत शामिल सीपत को नया तहसील बनाया जाएगा। नए तहसील में राजस्व निरीक्षक मंडल सीपत के पटवारी हल्का नंबर 1,2,3,4,5,15,17,18 एवं 56 के कुल 24 गांवों को शामिल किया जाएगा। इसी प्रकार राजस्व निरीक्षक मंडल खम्हरिया के पटवारी हल्का नंबर 6,7,8,10,11,12,13 एवं 14 के कुल 27 गांवों को शामिल किया जाएगा।

ये रहेगी सीमाएं
सीपत तहसील की सीमाओं का निर्धारण इस तरह किया गया है। उत्तर में तहसील कटघोरा जिला कोरबा एवं दक्षिण में तहसील मस्तूरी रहेगा।

दावा आपत्ति का समय खत्म
सीपत तहसील बनाने के लिए छत्तीसगढ़ राजपत्र में प्रकाशन 6 नवंबर 2020 को किया गया था। इस प्रकाशन के साथ ही तहसील बनाने को लेकर किसी प्रकार की दावा-आपत्ति के लिए दो माह का समय निर्धारित किया गया था। इस प्रकाशन के लिहाज से दावा-आपत्ति की समय सीमा समाप्त हो गई है।

ये ग्राम पंचायतें शामिल होंगे
सीपत तहसील में जिन ग्राम पंचायतों को शामिल किया जाएगा। इनमें पोड़ी, मचखंडा, नरगोड़ा, नवागांव, कौंवाताल, झलमला, सीपत, ठरकपुर ,गुड़ी, हिंडाडीह, खाड़ा, जुहली, सोंठी, बिटकुला, मड़ई, खोंदरा, जेवरा, उड़ांगी, बसहा, कुकदा, निरतू, उनी, कुली, खम्हरिया, लुतरा, धनिया, बनियाडीह, मुड़पार, नवांगांव, तेदुवा, एरमसाही, कछार, कौडिय़ा, हरदाडीह, पंधी, जांजी, देवरी , रांक, गतौरा, बेलटुकरी, रलिया, भनेसर, पाराघाट, परसदा किसान, भिलाई, भिलाई, खुडुभाठा, जयरामनगर, कोसमडीह, देवगांव दर्राभाठा, परसाही को शामिल किया गया है।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned