कलेक्टर ने प्रशिक्षण में बतायी मतदान की महत्वपूर्ण बातें, बोले काम में नहीं सहन होगी लापरवाही

कलेक्टर ने प्रशिक्षण में बतायी मतदान की महत्वपूर्ण बातें, बोले काम में नहीं सहन होगी लापरवाही

Anil Kumar Srivas | Publish: Nov, 10 2018 02:15:30 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 02:15:31 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

दयानंद ने सभी को निर्देशित किया कि प्रशिक्षण गंभीरता पूर्वक लें। क्योंकि मतदान की प्रक्रिया में कहीं भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

बिलासपुर . जिला निर्वाचन अधिकारी पी दयानंद ने शुक्रवार को वर्जेस स्कूल में चल रहे मतदान दलों के प्रशिक्षण कार्यक्रम का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने प्रशिक्षण ले रहे मतदान दलों के प्रशिक्षणार्थियों से सवाल- जवाब किए। दयानंद ने पूछा कि वीवीपैट से पर्ची कितने सेकेंड तक दिखती है। यदि कोई मतदाता वीवीपैट से निकलने वाली पर्ची को चुनौती दे तो मतदान दल क्या करेंगे। वीवीपेट मशीन से यदि पर्ची नहीं निकलती है तब क्या करेंगे। दयानंद ने सभी को सवालों के जवाब भी दिए । उन्होंने बताया कि यदि कोई मतदाता वीवीपेट से निकलने वाली पर्ची को चुनौती देता है तो उससे लिखित में आपत्ति ली जाएगी। जांच में यदि मतदाता की शिकायकत झूठी साबित होती है तो 1 हजार रुपए जुर्माने के साथ जेल का भी प्रावधान रखा गया है। वीवीपेट से पर्ची नहीं निकलने की दशा में मतदान दल को तुरंत अपने वरिष्ठ निर्वाचन अधिकारी को सूचित कर वीवीपेट मशीन बदलनी होगी। उन्होंने बताया कि वीवीपेट की पर्ची सात सेकेंड तक दिखाई देगी। दयानंद ने सभी को निर्देशित किया कि प्रशिक्षण गंभीरता पूर्वक लें। क्योंकि मतदान की प्रक्रिया में कहीं भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

उन्होंने प्रशिक्षकों से कहा कि प्रशिक्षण को इंटरेक्टिव बनाएं। प्रशिक्षण ले रहे मतदान कर्मियों से सवाल- जवाब करते रहें तभी प्रशिक्षण के सही परिणाम मिल पाएंगे और प्रशिक्षणार्थियों के संदेह को दूर किया जा सकेगा। प्रशिक्षण के दौरान डिप्टी कलेक्टर आशुतोष चतुर्वेदी भी उपस्थित रहे। मतदान दलों का प्रशिक्षण गल्र्स डिग्री कॉलेज, शासकीय बहुद्देशीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ,नवीन कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित किया जा रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned