दिग्विजय ने महात्मा गांधी से की स्वयं की तुलना, बोले- भोपाल के नतीजों से स्पष्ट है नाथूराम गोडसे जीत गया और महात्मा गांधी हार गए

पूर्व मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बीआर यादव की मूर्ति के अनावरण कार्यक्रम में भाग लेने दिग्विजय सिंह पहुंचे थे बिलासपुर

By: Barun Shrivastava

Published: 01 Jul 2019, 12:15 AM IST

बिलासपुर

 

शहर के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री बीआर यादव की मूर्ति के अनावरण के मौके पर बिलासपुर पहुंचे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा भोपाल के नतीजे हमें बताते हैं कि देश में नाथूराम गोडसे की जीत हो गई, जबकि महात्मा गांधी की हार। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए स्वयं की तुलना महात्मा गांधी से की। वहीं उन्होंने कहा बीआर यादव एक सुलझे हुए और ईमानदार नेता थे। मैं गर्व है कि मेरा राजनीतिक करियर उनके साथ ही शुरू हुआ था। 1977 में वे भी पहली बार और मैं भी पहली बार विधानसभा पहुंचा था।

 

प्रज्ञा ठाकुर की जीत नाथूराम गोडसे की जीत

 

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा, प्रज्ञा सिंह ठाकुर की जीत का अर्थ नाथूराम गोडसे की जीत है। उन्होंने आगे कहा इसका अर्थ है महात्मा गांधी हार गए। खास बात ये है कि भोपाल लोकसभा से 2019 के आम चुनावों में दिग्विजय सिंह कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में सामने थे। वहीं मालेगांव बम धमाकों की आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर भाजपा की ओर से मैदान में थी। 23 मई को नतीजों में प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने 4 लाख से अधिक मतों से दिग्विजय सिंह को शिकस्त दी है।

 

राहुल जी से करेंगे अनुरोध, इस्तीफा लें वापस

दिग्विजय सिंह ने कहा राहुल गांधी उस परंपरा के नेता हैं, जिसने देश के लिए सदा कुर्बानी दी है। कांग्रेस को आजादी के बाद दो बार विभाजित हुई, लेकिन असली कांग्रेस नेहरू-इंदिरा वाली ही रही है। ऐसे में देश में कोई और दिखाई नहीं देता जो पार्टी को संभाल सके। राहुल गांधी उस परंपरा के नेता हैं।

Barun Shrivastava Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned