Ganga Dussehra 2021: 20 जून को है गंगा दशहरा, जानें इस दिन का महत्त्व, पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

गंगा दशहरा (Ganga Dussehra 2021) ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाई जाएगी। इस बार यह 20 जून को है। मान्यता है कि इस दिन स्नान-दान करना बहुत ही शुभ लाभदायक है।

By: Ashish Gupta

Updated: 15 Jun 2021, 07:56 AM IST

बिलासपुर. गंगा दशहरा (Ganga Dussehra 2021) ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाई जाएगी। इस बार यह 20 जून को है। मान्यता है कि इस दिन स्नान-दान करना बहुत ही शुभ लाभदायक है। हिंदू धर्म में आस्था रखने वालों के बीच गंगा दशहरा का विशेष महत्त्व है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि पर ऋषि भागीरथी के अथक प्रयासों से मां गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था, इसलिए इस दिन को गंगा दशहरा मनाते हैं। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन गंगा स्नान करने और मां गंगा की आराधना करने से व्यक्ति के सभी पाप कर्मों का नाश होता है।

यह भी पढ़ें: इन तिथियों पर जन्मे लोग होते हैं गुस्सैल और जिद्दी, जानें इनके बारे में सबकुछ

पूजा विधि
गंगा दशहरा के दिन प्रात:काल उठकर गंगा जी में स्नान करें। यदि यह संभव न हो तो स्नान करने वाले पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान करें। सूर्य देव को गंगा जल मिले जल से अघ्र्य डालें। उसके बाद घर में पूजा स्थल पर जाकर दीप प्रज्वलित करें। उसके बाद सभी देवी- देवताओं का गंगा जल से अभिषेक करें।अब गंगा आरती करें। इस दिन व्रत रखना उत्तम फलदायक होता है। भगवान शिव की पूजा करें।

यह भी पढ़ें: हर व्यक्ति में होने चाहिए ये 4 गुण, इन गुणों वाले व्यक्ति को मिलता है मान-सम्मान

गंगा दशहरा का महत्त्व
गंगा दशहरा के दिन जो भी व्यक्ति विधि-विधान से गंगा नदी में या किसी भी पवित्र नदी या कुंड में स्नान कर अपनी श्रद्धा के अनुसार दान करें तो उसे न केवल अपने सभी पापों से मुक्ति मिलती है, बल्कि उसे कई महायज्ञों के समान पुण्य भी प्राप्त होता है। धार्मिक मान्यता है कि गंगा दशहरा के दिन मां गंगा की पूजा अर्चना से मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned