त्योहारी सीजन में इन ट्रेनों की सीटें हुई फुल, वेटिंग लिस्ट भी पहुंची 200 के पार

त्योहारी सीजन में इन ट्रेनों की सीटें हुई फुल, वेटिंग लिस्ट भी पहुंची 200 के पार

Deepak Sahu | Publish: Sep, 08 2018 02:04:14 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

दीपावली के दौरान यात्रा करने वाले यात्रियों को ट्रेनों में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है

बिलासपुर. 7 नवंबर को दीपावली और 13 नवंबर को छठ पूजा है। एेसे में दीपावली के दौरान यात्रा करने वाले यात्रियों को ट्रेनों में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बर्थ के लिए यूपी, बिहार, मुंबई और हावड़ा रूट की ट्रेनों में मारामारी की स्थिति है। नवम्बर माह में 1 से 10 तारीख तक ट्रेनों के सभी क्लास में नो रूम की स्थिति है। वापसी की ट्रेनों में भी यही स्थिति है। त्योहारों के सीजन में घर आने और जाने वालों की भीड़ रहती है। दीपावली से लेकर छठ पूजा तक चलने वाली अधिकांश ट्रेनें 4 माह पहले से ही फुल हो चुकी हैं। सबसे व्यस्त रूटों में मुम्बई से बिलासपुर, हावड़ा से बिलासपुर, बिहार से बिलासपुर व पुणे से बिलासपुर के बीच है। सेकेंड एसी से लेकर स्लीपर कोच तक यह स्थिति बनी हुई है। कुछ ट्रेनों में तो वेटिंग की संख्या स्लीपर कोच में दो सौ के आंकड़े को पार कर चुकी है।

इन रूटों की ट्रेनों में है नो रूम की स्थिति
मुम्बई से बिलासपुर आने वाली आजाद हिंद (12129) और अन्य ट्रेनों में नो रूम की स्थिति 1 नवम्बर से 8 नवंबर तक बनी हई है। ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस में 2 से 6 नवम्बर तक सभी क्लास में नो रूम, मेल 2 से 6 नवम्बर तक नो रूम की स्थिति है। बिलासपुर से पुणे जाने वाली ट्रेनों में 10 से 12 जनवरी तक नो रूम की स्थिति बनी हुई है। बिहार रूट की साउथ बिहार एक्सप्रेस में वेटिंग का आंकड़ा स्लीपर में दो सौ के पार, एससी टू में वेटिंग 40 के पार, थर्ड एससी में वेटिंग 80 चल रही है।

स्पेशल ट्रेनों की लेटलतीफी जारी, यात्रियों की बढ़ी दिक्कतें
यात्रियों की सुविधा के लिए शुरू की गई कुछ स्पेशल ट्रेनें अपने निर्धारित समय से घंटों विलम्ब से चल रही हैं। इसके चलते यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। बरौनी से सिकं दराबाद के बीच चलने वाली सिकंदराबाद स्पेशल अपने निर्धारित समय से 7 घंटे देर से बिलासपुर पहुंची। ट्रेन के बिलासपुर पहुंचने का समय सुबह 5.25 बजे है, लेकिन ट्रेन 11.25 बजे पहुंची। कुछ ऐसा ही हाल ट्रेन नंबर 07007 का है, जो सिकंदराबाद से दरभंगा पहुंचते-पहुंचते 12.19 मिनट लेट हो गई। वही अन्य स्पेशल ट्रेनों का ऐसा ही हाल है, जो अपने निर्धारित समय से आधे से 1 घंटे देरी से चल रही हैं। उत्तर भारत से चलने वाली सारनाथ एक्सप्रेस भी लम्बे समय से कई घंटे की देरी से चल रही है। गुरुवार को भी ट्रेनें लेट ही पहुंचीं। सारनाथ एक्सप्रेस 15159 जिसके बिलासपुर पहुंचने का समय सुबह 3.50 बजे है, यह ट्रेन अपने निर्धारित समय से ४ घंटे की देरी से 8 बजे बिलासपुर पहुंची।

त्योहारी सीजन में यात्रियों की सुविधा को देखते हुए समय-समय पर रेलवे राहत प्रदान करने रैक की सुविधा उपलब्ध कराता है। नो रूम की स्थिति बनने पर भी राहत के लिए व्यवस्था की जाएगी।
संतोष कुमार, सीपीआरओ, जोन कार्यालय एसईसीआर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned