ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फंसी महिला डॉक्टर, फिर जो हुआ देखते रह गए लोग

ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फंसी महिला डॉक्टर, फिर जो हुआ देखते रह गए लोग

Amil Shrivas | Publish: Aug, 12 2018 06:03:49 PM (IST) | Updated: Aug, 12 2018 06:03:50 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

चलती ट्रेन में चढऩे के फेर में पैर फिसला

बिलासपुर. चलती ट्रेन में चढऩे के फेर में एक महिला डॉक्टर का पैर फिसल गया। वह ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फंसकर 35 मीटर तक घसीटती चली गई। पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोकी। घटना में महिला डॉक्टर को मामूली खरोच लगी। जानकारी के अनुसार, सकरी स्थित डेंटल कॉलेज में पदस्थ डॉ. सिद्धी हाथीवाल (33) ने शनिवार को दुर्ग जाने छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के कोच नंबर एस-1 में रिजर्वेशन कराया था। दोपहर 2.20 बजे वह स्टेशन पहुंचीं। छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस प्लेटफार्म नंबर 3 पर खड़ी थी। डॉ. सिद्धी धोखे से प्लेटफार्म नंबर 2 पर खड़ी गेवरारोड लोकल में बैठ गई। यात्रियों ने उन्हें बताया कि जिस ट्रेन में वह बैठी हैं, वह लोकल ट्रेन है। छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस प्लेटफार्म नंबर 3 से छूट रही है। वह दौडकऱ चलती ट्रेन में चढऩे लगीं। पैर फिसलने से वह ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फंस गईं और 35 मीटर तक घसीटती चली गईं। गार्ड ने उन्हें घसीटते देखा तो वायरलेस सेट से इसकी सूचना पायलट को दी। पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोगी। डॉ. सिद्धी को रेल कर्मियों ने बाहर निकाला। उनके पैर में मामूली खरोंच आई थी। उपचार कराने के बाद उन्हें दूसरी ट्रेन से दुर्ग भेजा गया।

Prev Page 1 of 2 Next
Ad Block is Banned