क्राफ्ट में धूम मचा रहा शिल्पा आर्ट एंड क्राफ्ट यूट्यूब चैनल

बिलासपुर में सक्रिय शिल्पा ड्राइंग एंड आर्ट्स जैसे कई चैनल, हाउस मेकर्स के भी कई चैनल सक्रिय, क्रिएटिविटी का प्लेटफॉर्म

बिलासपुर.

इन दिनों यूट्यूब चैनल महिलाओं के लिए क्रिएटिव प्लेटफॉर्म बनकर उभरा है। बिलासपुर से ही 50 से अधिक चैनल्स काम कर रहे हैं। इन चैनलों पर जहां होम मेकिंग के वीडियो है। इनके अलावा बच्चों में संस्कार, ड्रेसिंग सेंस, हेयर स्टाइल, पढ़ाई लिखाई आदि की बातें भी वीडियो के जरिए लोगों को बताई जा रही हैं। छत्तीसगढ़ स्तर पर 100 से ज्यादा बड़े चैनल्स सक्रिय हैं। इनमें महिलाएं अपनी क्रिएटिव्स को एक ओर विस्तार दे रही हैं तो दूसरी तरफ यह आय का भी अच्छा प्लेटफॉर्म बन गया है।

क्राफ्ट, ग्रीटिंग, सजावटी के लिए शिल्पा ने बनाया चैनल

इन दिनों सबसे ज्यादा चर्चा में है आर्ट एंड क्राफ्ट का चैनल शिल्पा ड्रॉइंग एंड क्राफ्ट। इस चैनल पर 40 हजार से अधिक सब्सक्राइबर हैं। यहां पर बच्चों के स्कूल में दिए जाने वाले प्रोजेक्ट्स से लेकर विभिन्न अवसरों पर कार्ड मेकिंग जैसे कई वीडियो जारी किए जाते हैं। यहां पर अगर आपको किसी बच्चे के जन्मदिन पर कोई अलग ढंग का कार्ड बनाना है तो इस चैनल पर इसे बनाने के लाइव वीडियो मिल जाएंगे। इनके अलावा घरेलू साज-सजावट से जुड़े आसान से आर्ट्स बनाना भी सीख सकते हैं। शिल्पा ड्रॉइंग एंड क्राफ्ट चैनल बिलासपुर की शिल्पा जैन चलाती हैं। वे कहते हैं, यह मेरी हॉबी है। मेरी हॉबी को यूट्यूब ने अच्छा प्लेटफॉर्म दिया है। मुझे सुकून मिलता है जब यह आर्ट लाखों लोगों तक पहुंचता है।

यूट्यूब ने बनाए हजारों क्रिएटर्स

यूट्यूब ने बीते कुछ सालों से अपने क्रिएटर्स तैयार किए हैं। बतौर क्रिएटर साधारण से साधारण व्यक्ति भी लाखों रुपए की आय अर्जित कर सकता है। इसके लिए सामान्य से यूट्यूब एकाउंट से वीडियो बनाना शुरू करना है। शिल्पा ड्रॉइंग एंड क्राफ्ट चैनल की शुरुआत भी एक छोटे से चैनल से हुई थी। इस चैनल ने महज 8 से 9 महीने के भीतर करीब 1 करोड़ मिनट का वॉच टाइम, 40 हजार सब्सक्राइबर, 100 से अधिक वीडियो में 3 करोड़ से अधिक व्यूअर्स तक का सफर किया है। यूट्यूब में वैसे तो आय का कैल्कुलेशन अलग-अलग तरीके से होता है, परंतु यह माना जाता है कि यूट्यूब 4 से 5 हजार व्यूज पर 1 डॉलर देता है।

भारत में यूट्यूब चैनलों की बहार

बीते सालों में भारत से क्रिएटर की बाढ़ सी आई है। यहां पर ग्रहणियों के बच्चों के स्कूल के लिए तैयार करने वाला निम्मी का चैनल, बच्चों के प्रोजेक्ट तैयार करवाने वाला प्रोजेक्टो चैनल, ड्रेसिंग सेंस के लिए ड्रेसिंगक्वो आदि चैनल महिलाओं द्वारा ही संचालति हैं। इन चैनलों पर लाखों की संख्या में सब्सक्राइब हैं, जबकि वॉच टाइम और व्यूज कई मिलियंस में हैं।

Barun Shrivastava Editorial Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned