#Coronavirus: संक्रमण से बचने के लिए अपनाएं ये तीन नियम, सेहत काे भी हाेगा ये फायदा

#Coronavirus: कोरोनावायरस, स्वाइन फ्लू या अन्य काेई मौसमी फ्लू या बीमारी हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने पर आसानी से हमें अपनी चपेट में ले सकती है। इम्यून सिस्टम हमारे शरीर के भीतर एक प्रोटेक्शन मेकनिजम है, जो बाहरी संक्रमण से हमें सुरक्षित रखने का काम करता है...

Yuvraj Singh Jadon

23 Mar 2020, 06:40 PM IST

#Coronavirus: कोरोनावायरस, स्वाइन फ्लू या अन्य काेई मौसमी फ्लू या बीमारी हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने पर आसानी से हमें अपनी चपेट में ले सकती है। इम्यून सिस्टम हमारे शरीर के भीतर एक प्रोटेक्शन मेकनिजम है, जो बाहरी संक्रमण से हमें सुरक्षित रखने का काम करता है। विशेषज्ञों के अनुसार दिनभर में हम सांस के जरिए वातावरण में मौजूद तमाम बैक्टीरिया और वायरस अपने शरीर के अंदर लेते हैं। लेकिन ये हमें नुकसान नहीं पहुंचा पाते क्योंकि हमारा मजबूत प्रतिरोधक तंत्र इनसे हर समय लड़ते हुए इन्हें हराता है। इसलिए आवश्यक है कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity power) को बेहतर बनाएं। मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता के कारण शरीर कई बड़ी बीमारियों और इंफेक्शंन से खुद अपना बचाव कर सकता है।

इम्यूनिटी हो रही है कमजोर:
विशेषज्ञों के मुताबिक आज के समय में अनियमित खानपान, नींद की कमी, देर रात तक जागने की आदत, तनाव और अनियमित दिनचर्या के कारण लोगों में इम्यूनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) घट रही है। इसके अलावा मौसमी बदलाव के दौरान शक्तिशाली हुए बाहरी बैक्टीरिया और वायरस भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर कर सकते हैं।


ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी (increase immunity power):
हेल्दी डाइट:
नियमित ताैर पर सेहतमंद आहार का सेवन करने से शरीर रोग प्रतिरोधक क्षमता का निर्माण खुद कर लेता है। इसलिए अपने आहार में पोषक युक्त चीजों का चुनाव करें। विटामिन सी और बीटा कैरोटीन इम्युनिटी बढ़ाता है। इसके लिए मौसमी, संतरा, नींबू लें। जिंक का भी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बड़ा हाथ है। जिंक का सबसे बड़ा स्त्रोत सीफूड है, लेकिन ड्राई फ्रूट्स में भी जिंक भरपूर मात्रा में पाया जाता है। फल और हरी सब्जियां भरपूर मात्रा में खाएं। साथ समय पर खाना खाएं। जंक फूड, प्रिजरवेटिव्स युक्त फूड और ज्यादा तला- भूना खाने से बचें।

योग:
शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी करने में यौगिक क्रियाएं बेहद फायदेमंद हैं। किसी योगाचार्य से सीखकर इन क्रियाओं को इसी क्रम में करना चाहिए : कपालभांति, अग्निसार क्रिया, सूर्य नमस्कार, ताड़ासन, उत्तानपादासान, कटिचक्रासन, सेतुबंधासन, पवनमुक्तासन, भुजंगासन, नौकासन, मंडूकासन, अनुलोम विलोम प्राणायाम, उज्जायी प्राणायाम, भस्त्रिका प्राणायाम, भ्रामरी और ध्यान।

एक्सरसाइज :
शरीर से जहरीले पदार्थ निकालने में भी एक्सरसाइज मदद करती है। दरअसल, व्यायाम करने के दौरान हम गहरी, लंबी और तेज सांसें लेते हैं। ऐसे में फेफड़ों में जमा जहरीले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। इसके अलाव पसीना के जरिए भी शरीर से गंदे पदार्थ बाहर निकलते हैं। एक स्टडी के मुताबिक अगर रोजाना सुबह 45 मिनट तेज चाल से टहला जाए तो सांस से संबंधित बीमारियां दूर होती हैं और बार-बार बीमारी होने की आशंका को आधा किया जा सकता है। नियमित व्यायाम से शरीर के ब्लड सर्कुलेशन में बढ़ोतरी होती है, मसल्स टोन होती हैं, कार्डिएक फंक्शन बेहतर होता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है।

coronavirus
Show More
युवराज सिंह Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned