उपवास खाेलते समय इन बाताें का रखेंगे ध्यान, ताे सेहत रहेगी ऊर्जावान

उपवास खाेलते समय इन बाताें का रखेंगे ध्यान, ताे सेहत रहेगी ऊर्जावान

Yuvraj Singh Jadon | Publish: Oct, 10 2018 07:51:48 PM (IST) | Updated: Oct, 10 2018 10:46:27 PM (IST) तन-मन

उपवास आस्था का प्रतिक हाेने के साथ - साथ स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है। इसलिए आदिकाल से आजतक कर्इ लाेग विभिन्न अवसराें पर अपनी शक्ति के अनुसार उपवास रखते हैं

उपवास आस्था का प्रतिक हाेने के साथ - साथ स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है। इसलिए आदिकाल से आजतक कर्इ लाेग विभिन्न अवसराें पर अपनी शक्ति के अनुसार उपवास रखते हैं। कोई निराहार-निर्जल व्रत करता है तो कोई एक समय भोजन करता है।उपवास काेर्इ भी हाे, लेकिन इसे शुरू करने आैर समाप्त कर खाना खाते समय आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। आइए आज हम आपकाे बताते है व्रत के दाैरान क्या करें, क्या ना करें :-

एक दिन पहले खाएं उर्जा से भरपूर चीजें

माना जाता है कि जो कुछ भी हम रात को खाते हैं उसका सीधा असर हमारे अगले दिन की ऊर्जा पर पड़ता है। इसलिए व्रत से एक दिन पहले खासतौर पर ऐसी चीजें खानी चाहिए जो अगले दिन के लिए ऊर्जा से भरपूर रखें। कोशिश करें कि ज्यादा मीठा या नमकीन, छोले, मैदा, बेसन, ग्रेवी वाली सब्जी आदि को न खाएं। इनसे अगले दिन बार-बार प्यास लगेगी। इनके बजाय हल्का व पौष्टिक खाना खाएं। जिसमें पानी वाली सब्जी, दाल, पुलाव या खिचड़ी खा सकते हैं।

दिनभर ऐसा रखें शेड्यूल
व्रत के दिन आपको अपनी दिनचर्या सामान्य दिन से थोड़ी अलग रखनी चाहिए। जैसे जिस तरह की साफ-सफाई आप अपनी दिनचर्या में करती हैं उसे इस दिन के लिए कम कर दें। वर्ना सुबह के समय से ही आपकी ऊर्जा कम हो सकती है जिसके बाद चक्कर आने व बेचैनी की समस्या हो सकती है। हल्की- फुल्की सफाई कर सकती हैं।


ये रोगी ध्यान रखे

हाई ब्लड प्रेशर के अलावा डायबिटीज, हृदय रोगी, माइग्रेन, मिर्गी के मरीजों, गर्भवती महिलाएं, हाल ही मां बनी व ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं को उपवास रखने की मनाही होती है। साथ ही यदि करें भी तो भूखे न रहें। लंबे समय तक भूखे रहने से परेशानी और बढ़ जाती है। इसलिए दिनभर में कुछ न कुछ खाते रहें।

ये खा सकती हैं
गर्भवती व ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाएं यदि व्रत रखती हैं तो वे दिनभर में फल खाने के साथ लिक्विड डाइट के रूप में एक गिलास दूध, नींबू पानी, फलों का जूस, नारियल पानी, बनाना शेक आदि पी सकती हैं। यदि डायबिटिक हैं तो सीमित मात्रा में फल, जूस व बादाम खा सकती हैं। अन्य रोगी भी तरल के अलावा फल व अंजीर खाएं।

व्रत के दिन ऐसा हो डाइट चार्ट

व्रत में आमतौर पर शाम को भोजन करते हैं। ऐसे में हैवी डाइट न लें। व्रत खोलने की शुरुआत घूंट-घूंट कर पानी पीने, नींबू पानी या जूस से करें ताकि शरीर के अंदरूनी अंग बैलेंस हो सकें। व्रत खोलते समय ज्यादा मिठाई खाने की गलती ना करें वर्ना शुगर लेवल एकदम से बढ़ सकता है। भोजन में तली-भुनी व गरिष्ठ चीजें न खाएं वर्ना हाई बीपी व अपच हो सकती है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned