Saroj Khan की प्रेयर मीट का हिस्सा नहीं बनेगीं Madhuri Dixit, बेटी ने कहा-'हंसते हुए मनाएंगी उनकी शोक सभी'

By: Shweta Dhobhal
| Published: 07 Jul 2020, 08:11 PM IST
Saroj Khan की प्रेयर मीट का हिस्सा नहीं बनेगीं Madhuri Dixit, बेटी ने कहा-'हंसते हुए मनाएंगी उनकी शोक सभी'
Madhuri Dixit Can't Attend SarojKhan Prayer Meet

  • बेटी सुकैना नागपाल ( Sukaina Nagpal ) ने कोरियोग्राफर सरोज खान ( Choreographer Saroj Khan ) के लिए शोक सभा
  • प्रेयर मीट ( Saroj Prayer meet ) में माधुरी दीक्षित ( Madhuri Dixit ) चाहकर भी नहीं हो पाएंगी शामिल

नई दिल्ली। हिंदी सिनेमा जगत ( Hindi Film Industry ) से बीते कुछ महीनों में एक नहीं कई कलाकारों को खो दिया है। बीते शुक्रवार मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान ( choreographer Saroj Khan ) का कार्डिएक अरेस्ट की वजह से हुआ देहांत (Died due to cardiac arrest ) हो गया। सरोज खान का जाना फिल्म इंडस्ट्री के लिए एक बहुत बड़ा नुकसान है। सरोज में अपनी कला को इंडस्ट्री की कई पीढ़ियों ( Had taught many generations of dance ) को दी है। यही वजह है कि उनके जाने से सोशल मीडिया पर तमाम सेलेब्स ( Celebs Shared Emotional message for saroj ) ने उनके साथ बिताए लम्हों को याद कर उन्हें श्रदांजलि दी है। निधन के बाद सरोज खान के बच्चों ने सोशल मीडिया पर एक स्टेटमेंट जारी कर कहा था कि कोरोना को लेकर वे अभी अपनी मां के लिए शोक सभा आयोजित नहीं कर रहे। उनकी सबसे छोटी बेटी सुकैना नागपाल ( Sukaina Nagpal ) ने कि वह अपनी मां की प्रेयर मीट ( Saroj Khan Prayer Meeting ) में वह क्या करना चाहती हैं।

View this post on Instagram

I still can’t believe master ji is no more. Losing a friend, philosopher & guide like her is devastating. It was difficult for me to put down my grief in words. I had spoken to her daughter when she was in the hospital & she told me that Saroj ji would be fine. Two days later, she was gone.⁣⁣ ⁣ The Guru-shishya bond that we shared, the assurance that she would be my mother on the sets, I'll miss everything. Today on the occasion of Guru Purnima, I pay my tribute to her. ⁣⁣ ⁣ Nobody can make women look so beautiful, desirable & sensuous on-screen like her. She made everything look like poetry in motion. Smitten by her, I had told her, "Saroji ji, agar aap shakkar hoti na, I would add you in my cup of tea & drink it." She would laugh heartily at this. I'll miss that playful laughter.⁣ ⁣ The first time I met her was while shooting for Maine Rab Se from Karma. Saroj ji asked me so many questions, one being 'Where did you learn to dance?' Unfortunately, our sequence was removed from the song. I'll miss her many questions.⁣ ⁣ Saroj Khan was a game changer in the industry. She was the rebel in the male-dominated profession. There were rough edges to her personality & I feel that's because life had been pretty uneven to her. I'll miss that determined & headstrong woman.⁣⁣ ⁣ Dancing in front of the camera & dancing on stage are two different things. Saroj ji taught me how to romance the camera when we worked on Ek Do Teen. Such was the song’s popularity that Filmfare had to create the Best Choreography category to honour Saroj ji. I'll miss her resolve to push the envelope all the time. ⁣⁣ ⁣ Her Nazakat, the aadayein, the elegance of every move, I was besotted. I knew we would do a lot of songs together. So we decided not to repeat any of the movements. She agreed to create hook steps that people will identify with every song. We created so many movements with no knowledge about what they are called. Who knew Tamma Tamma step was Dab? I'lll miss inventing hook steps with her.⁣ ⁣ She was close to my family as well & this loss is deeply personal. There's no one like her & there won't be another like her. Saroj ji, I'll miss everything about you. I'll miss your 'Perrrfect'!

A post shared by Madhuri Dixit (@madhuridixitnene) on

मां के लिए प्रेयर मीट को लेकर सरोज खान ( Saroj Khan's daughter will organised prayer meeting ) की बेटी का कहना है कि 'इस शोक सभी में बॉलीवुड इंडस्ट्री ( Bollywood industry artist ) से कौन आर्टिस्ट आना चाहेंगे या नहीं उन्हें इस बात का बिल्कुल भी कोई अंदाज़ा नही हैं। लेकिन वह दिल से चाहती थीं कि उनके मां के दिल के सबसे पास पहने वाली माधरी दीक्षित ( Maduri Dixit Attend Saroj prayer meeting ) इस शोक सभा में जरूर शामिल हो। सुकैना ने बताया कि माधुरी सरोज खान की शोक सभा में आना चाहती हैं लेकिन उनके घर में 87 साल की ( Madhuri can't attend prayer meet ) मां हैं। ऐसे में माधुरी चाहकर भी वहां नहीं पहुंच पाएंगी। सुकैना ने बताया उनकी मां माधुरी अपनी बड़ी ( Madhuri just like daughter for saroj ) बेटी के रूप में देखतीं थीं।

शोक सभा में शामिल होने वाले लोगों के लिए सुकैना कहा कि 'वह बिल्कुल नहीं चाहतीं कि लोग वहां रोना-धोना करें बल्कि वे आकर उनकी लाइफ को सेलिब्रेट ( Celebrate life ) करें। आएं और खुश रहें जैसे कि उनकी मां हमेशा हंसती ( Always smile just like her mother ) रहती थीं। वह चाहती हैं कि लोग आकर उन्हें वो स्माइल दें और तालियां ( Smiling and clapping ) बजाते हुए यह कहें कि आपको हम सलाम करते हैं कि आपने आदमियों के करियर से इस दुनिया में अपना नाम रोशन कर दिया। आप औरतों के लिए एक मिसाल कायम कि अगर आप कर सकते हैं तो हम भी कर सकते हैं। अंत में सुकैना ने बताया कि वह आज अपनी मां से काफी इंस्पायर ( Sukaina Inspired by her mother) महसूस करती हैं। उन्हें इस बात का कोई दुख नहीं हैं कि वह एक औरत हैं। वह हमेशा अपनी मां को देख यह महसूस करती हैं कि वह कुछ भी कर सकती हैं।

Show More