मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप बनना चाहते थे वैज्ञानिक, ऐसी ही कुछ अनजानी बातें
Mahendra Yadav
Publish: Sep, 09 2018 08:46:37 (IST)
मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप बनना चाहते थे वैज्ञानिक, ऐसी ही कुछ अनजानी बातें

स्कूल में वह अपनी कमजोर इंग्लिश के चलते अपने बैचमेट से घुल-मिल नहीं पाते थे।

बॉलीवुड के जाने-माने फिल्मकार अनुराग कश्यप ने अपनी फिल्मों के जरिए भले ही दर्शकों के बीच खास पहचान बनाई हो लेकिन वह फिल्मकार नहीं, वैज्ञानिक बनना चाहते थे। अनुराग कश्यप का जन्म 10 सितंबर 1972 को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में हुआ। उनके पिता उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन में काम किया करते थे। अनुराग ने ग्वालियर के सिंधिया स्कूल में अपनी पढ़ाई की। इसी दौरान उनका रूझान पढऩे की ओर बढ़ता गया और उन्हें जो भी किताब मिलती वह उसे पढ़ डालते।

कमजोर अंग्रेजी के कारण कक्षा के साथियों से रहते थे दूर:
अनुराग ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि स्कूल में वह अपनी कमजोर इंग्लिश के चलते अपने बैचमेट से घुल-मिल नहीं पाते थे। इस कारण उन्होंने स्कूल की लाइब्रेरी में समय गुजारना शुरू कर दिया। वह शुरूआती दौर में वैज्ञानिक बनना चाहते थे। इसी उद्देश्य से उन्होंने दिल्ली के हंसराज कॉलेज में दाखिला लिया। वर्ष 1993 में उन्होंने स्नातक की पढ़ाई पूरी की।

 

मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप बनना चाहते थे वैज्ञानिक, ऐसी ही कुछ अनजानी बातें

सत्या के लिए मिला फिल्मफेयर अवॉर्ड:
वर्ष 1997 में अनुराग को फिल्म 'सत्या' के लिए सर्वश्रेष्ठ स्क्रीनप्ले के फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वर्ष 2007 में उनके निर्देशन में बनी फिल्म'ब्लैक फ्राइडे' प्रदर्शित हुई। हालांकि फिल्म टिकट खिड़की पर सफल नहीं रही लेकिन समीक्षकों को बेहद पसंद आयी। वह शरत चन्द्र के मशहूर उपन्यास देवदास से बेहद प्रभावित थे और उन्होंने इसे आधुनिक रंग में रंगकर बड़े पर्दे पर 'देव डी' के रूप में पेश किया। वर्ष 2009 में प्रदर्शित यह फिल्म टिकट खिड़की पर बेहद सफल रही।

कल्की से हुआ प्यार:
फिल्म 'देव डी' के निर्माण के दौरान उनका रुझान अभिनेत्री कल्की कोचलीन की ओर हो गया और वर्ष 2011 में उन्होंने कल्की से शादी कर ली। दोनों ने हालांकि बाद में अलग रहने का फैसला कर लिया। अनुराग ने इससे पूर्व वर्ष 2003 में फिल्म एडिटर आरती बजाज से भी शादी की थी जो 2009 में टूट गई थी।

फिल्म निर्माण में रखा कदम:
वर्ष 2009 में अनुराग कश्यप ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया । वर्ष 2010 में अनुराग कश्यप ने 'उड़ान' का निर्माण किया। फिल्म टिकट खिड़की पर बेहद सफल रही।वर्ष 2012 में अनुराग कश्यप ने 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' का निर्माण और निर्देशन किया। यह फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुई। इसी वर्ष उनकी 'गैंग्स ऑफ वासेपुर 2' भी प्रदर्शित हुई लेकिन यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई खास कमाल नहीं दिखा सकी। वर्ष 2014 में अनुराग ने 'हंसी तो फंसी' और 'क्वीन' जैसी कामयाब फिल्मों का निर्माण किया।

14 सितंबर को रिलीज होगी 'मनमर्जियां':
उनकी वर्ष 2015 में फिल्म 'बॉम्बे वेलवेट'प्रदर्शित हुई। रणबीर कपूर और अनुष्का शर्मा की जोड़ी वाली यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कोई कमाल नही दिखा सकी। वर्ष 2016 में अनुराग ने फिल्म 'रमन राघव 2.0' का निर्देशन किया लेकिन यह फिल्म भी कोई कमाल नहीं दिखा सकी। वर्ष 2018 में अनुराग कश्यप निर्देशित 'मुक्काबाज' प्रदर्शित हुई लेकिन यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर नकार दी गयी। अनुराग कश्यप निर्देशित फिल्म 'मनमर्जिया' 14 सितंबर को प्रदर्शित हो रही है। फिल्म में अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू और विक्की कौशल की मुख्य भूमिका है।