पोलैंड में एक चौराहे का नाम रखा 'हरिवंश राय बच्चन', पोस्ट शेयर कर इमोशनल हुए Amitabh Bachchan

By: Shweta Dhobhal
| Published: 26 Oct 2020, 03:30 PM IST
पोलैंड में एक चौराहे का नाम रखा 'हरिवंश राय बच्चन',  पोस्ट शेयर कर इमोशनल हुए Amitabh Bachchan
Crossroads In Poland Named Harivansh Rai Bachchan

  • पोलैंड के व्रोकला शहर में एक चौराहे का नाम रखा गया Dr.Harivansh Rai Bachchan
  • अभिनेता Amitabh Bachchan सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर दी जानकारी
  • दिसंबर 2019 में चर्च पर बाबूजी के लिए रखी गई थी प्रार्थना

नई दिल्ली। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ( Amitabh Bachchan ) सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। वह नई-नई पोस्ट शेयर कर अपने फैंस को अपनी जिंदगी में हो रही सभी बातों को उनके साथ शेयर करते हुए दिखाई देते हैं। आज सवेरे अमिताभ बच्चन ने अपने चाहने वालों को एक गुड न्यूज शेयर की है। जिसे सुनाते हुए वह भी काफी भावुक दिखाई दिए और उनके फैंस भी कमेंट कर उन्हें बधाई देते हुए नज़र आए।

दरअसल, बिग बी ने सेवरे अपने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर पोस्ट की है। जिसमें एक महिला के हाथ में एक बोर्ड दिखाई दे रहा है। जिसमें बताया है कि पोलैंड के व्रोकला शहर में एक चौराहे का नाम अभिनेता के पिता डॉ.हरिवंश राय बच्चन ( Dr. Harivansh Rai Bachchan ) के नाम पर रखा जाएगा। इस पोस्ट को शेयर करते हुए बिग बी ने रामचरित मानस की एक चोपाई लिखते हुए उसका अर्थ भी बताया। उन्होंने पोस्ट में लिखा- 'प्रबिसि नगर कीजे सब काजा। हृदयँ राखि कोसलपुर राजा॥' .. ~ रामचरितमानस , सुंदर कांड भावार्थ- अयोध्यापुरी के राजा श्री रघुनाथजी को हृदय में रखे हुए नगर में प्रवेश करके सब काम कीजिए। व्रोकलॉ, पोलैंड के सिटी काउंसिल ने एक चौराहे का नाम मेरे पिता के नाम रखने का फैसला लिया है।''

बतातें चलें कि बीते साल यानी कि 2019 में पोलैंड के एक चर्च में दिसंबर के महीने में डॉ.हरिशवंश राय बच्चन के लिए प्रार्थना रखी गई थी। पिता के लिए पोलैंड के लोगों में इतना प्यार देख अमिताभ बच्चन काफी भावुक हो गए थे। उन्होंने प्रार्थना करते हुए लोगों की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर शेयर की थी। अमिताभ बतातें है कि उनके पिता को पोलैंड और वहां के निवासियों से बेहद प्यार था।

Harivansh Rai Bachchan

हरिवंश राय बच्चन हिन्दी भाषा के एक कवि और लेखक थे। बच्चन हिन्दी कविता के उत्तर छायावत काल के प्रमुख कवियों में से एक हैं। उनकी सबसे प्रसिद्ध कृति मधुशाला है। भारतीय फिल्म उद्योग के प्रख्यात अभिनेता अमिताभ बच्चन उनके सुपुत्र हैं। उनकी मृत्यु 18 जनवरी 2003 में सांस की बीमारी के वजह से मुंबई में हुई थी।