तेजी से जागरूकता लाने के लिए सिनेमा बेहतरीन माध्यम: प्रतीक बब्बर
Mahendra Yadav
Publish: Sep, 03 2018 08:36:33 (IST)
तेजी से जागरूकता लाने के लिए सिनेमा बेहतरीन माध्यम: प्रतीक बब्बर

भ्रष्टाचार हर जगह मौजूद है, लेकिन यह दिन पर दिन बढ़ रहा है और सिर्फ मध्यवर्गीय और गरीब लोग इसे झेल रहे हैं।

फिल्म 'मुल्क' करने के बाद अभिनता प्रतीक बब्बर का कहना है कि वह ऐसी फिल्में करना चाहते हैं जो न सिर्फ व्यावसायिक हों, बल्कि उनमें समाज में बदलाव लाने की क्षमता भी हो। उन्होंने वायकॉम 18 के स्वामित्व वाले डिजिटल प्लेटफॉर्म वूट के मेडिकल क्राइम सीरीज 'क्यू वार्ड' को साइन किया है। इसकी कहानी चार ईमानदार चिकित्सकों के इर्द-गिर्द घूमती है, जो सिस्टम में मौजूद भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ते हैं।

मेडिसिन की दुनिया में नैतिकता भुला दी जाती है:
प्रतीक ने एक साक्षात्कार में कहा, 'यह रहस्य से भरपूर ड्रामा है और एक ऐसी अवधारणा है जिसे पहले कभी भारतीय मनोरंजन में नहीं दिखाया गया। कई बार मैंने देखा है कि मेडिसिन की दुनिया में नैतिकता कैसे भुला दी जाती है और लालच अपने कर्तव्य को पूरा करने वाले पेशेवर चिकित्सकों के रास्ते में आ जाता है और यही कारण है कि मैंने इस प्रोजेक्ट से जुडऩे का फैसला किया।'

 

तेजी से जागरूकता लाने के लिए सिनेमा बेहतरीन माध्यम: प्रतीक बब्बर

भ्रष्टाचार हर जगह मौजूद:
अभिनेता ने कहा,'भ्रष्टाचार हर जगह मौजूद है, लेकिन यह दिन पर दिन बढ़ रहा है और सिर्फ मध्यवर्गीय और गरीब लोग इसे झेल रहे हैं। 'मुल्क' करने के बाद मुझे अहसास हुआ कि तेजी से जागरूकता लाने का सिनेमा बेहतरीन माध्यम है और मैं ऐसे प्रोजेक्ट करना चाहूंगा जो न सिर्फ व्यवसायिक व मुख्यधारा से जुड़े हों बल्कि समाज में बदलाव भी लाएं।' प्रतीक वेब सीरीज के अलावा नितेश तिवारी की 'छिछोरे' में भी नजर आएंगे, जिसमें श्रद्धा कपूर और सुशांत सिंह राजपूत भी हैं।

अभिनय मेरे दिल की धड़कन:
उन्होंने कहा, ‘मैने महसूस किया है कि अभिनय मेरे दिल की धड़कन और मेरी जीवन रेखा है। यह एक उतार-चढ़ाव वाला सफर रहा है। मैं जिस चरण में हूं, मैं बहुत भाग्यशाली हूं। यह मुझे बहुत सुखद अहसास दे रहा है कि मैं आज यहां हूं और अब मैं पीछे नहीं देख रहा हूं। मैं उत्साह और सकारात्मक तरीके से आगे बढ़ने के लिए तैयार हूं और अब मैं आत्मविश्वास से परिपूर्ण हूं।'