Happy Independence Day 2021 : देशभक्ति से लबरेज कर देंगे बॉलीवुड फिल्मों के ये 10 डायलॉग

By: Shalu Saini
| Published: 14 Aug 2021, 02:10 PM IST
Happy Independence Day 2021 : देशभक्ति से लबरेज कर देंगे बॉलीवुड फिल्मों के ये 10 डायलॉग

बॉलीवुड में देशभक्ति पर बनी फिल्मों का चार्म ही अलग होता है। दरअसल,ये फिल्में लोगों के ज्यादा करीब होती है यही कारण है जो इन्हें बड़ी सूझ बूझ के साथ बनाया जाता है। इन फिल्मों के सीन से लेकर डायलॉग पर एक्स्ट्रा काम किया जाता है, तभी तो इन फिल्मों के डायलॉग लोगों की जुबान पर बैठते है। आइये जानते है इन बॉलीवुड फिल्मों के 10 डायलॉग के बारे में जो आज भी लोगों के दिलों में देशभक्ति की अलख को जगा देते है।

Happy Independence Day 2021 : भारत एक ऐसा देश है जहां बच्चे बच्चे के दिल में देशभक्ति कि भावना दौड़ती है। देशभक्ती और देश पर बनी फिल्में भी खुब धमाल करती है। बॉलीवुड ने देशभक्ति के ऊपर भरपूर फिल्में बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। इन फिल्मों का ऑरा ही अलग मना जाता है और जिस तरह से इन फिल्मों को बनाया जाता है उसे देख हर शख्स के दिल में देशभक्ति और बढ़ जाती है। वहीं बॉलीवुड द्वारा बनाई गई फिल्में लोगों के दिलों पर सालों साल राज करती है, वहीं इनके डॉयलोग लोगों की जुबान पर मानों हमेशा के लिए घर कर लेते है। इस स्वतंत्रा दिवस हम आपके लिए कुछ ऐसे ही डायलॉग लेकर आए है जो आपके अंदर देशभक्ति के सैलाब दोबारा जगा देंगी।

Uri: The Surgical Strike

इस लिस्ट में पहला नाम फिल्म उरी का, जिससे देखने के बाद दर्शक हाउ इज द जोश, हाई सर कहते हुए ही सिनेमा घर से निकले थे। इस फिल्म में मुख्य भूमिका में विक्की कौशल नजर आए थे और ये फिल्म पाकिस्तान के पीओके की भूमि पर हमारी भारतीय सेना ने जो सर्गिकल स्ट्राइक किया था, उस पर आधारित थी। वहीं यह फिल्म देख आप एक ही समय में गर्व और गुस्सा महसूस कराएगें।


Holiday: A Soldier is Never off Duty

लिस्ट में अगली फिल्म है हॉलीडे: ए सोल्जर इज नेवर ऑफ ड्यूटी, ये यह फिल्म एक सैन्य अधिकारी के बारे में है जो अपनी कमान के तहत स्लीपर सेल के माध्यम से मुंबई को अलग करने के उद्देश्य से एक आतंकवादी का शिकार करने और उसे मारने के लिए अपनी बुद्धि और युद्ध कौशल का उपयोग करता है। इस फिल्म का डायलॉग "जब वहा बॉर्डर पर लोग अपनी निंद की परवाह न करते हुए जाते हैं, तब तुम्हारे यहां शहर में चेन की निंद आती है” अपके अंदर एक सिपाही के द्वारा किए गए बलिदान के लिए आपके मन में इज्जत और बढ़ा देंगे


Airlift

यह फिल्म अगस्त 1990 में जब इराक पर कुवैत पर हमला करती है, तो एक कठोर भारतीय व्यापारी 170,000 से अधिक फंसे हुए देशवासियों का प्रवक्ता बन जाता है। 'अगर हमारी कोई पहचान है तो सिरफ एक, की हम कुवैती नहीं, हिंदुस्तानी है, साथ है तो सब कुछ है, कुछ नहीं कहना।'

Gadar: Ek Prem Katha

सनी देओल, अमीषा पटेल और अमरीश पुरी की बॉलीवुड एक्शन फिल्म गदर भारत और पाकिस्तान विभाजन के समय की है। गदर: एक प्रेम कथा ने बॉक्स ऑफिस पर गदर मचा दी थी, लोगों द्वारा इस फिल्म और सनी देओल को खूब पसंद किया गया था। इस फिल्म में वेसे तो कई धमाकेदार डायलॉग थे। लेकिन इसका एक डायलॉग आज भी लोगों के दिलों पर राज करता है और उसे सुन किसी के भी दिल में देशभक्ति की भावना जाग जाएगी। "हमारा हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है, और जिंदाबाद रहेगा!" -सनी देओल

Maa Tujhhe Salaam

मां तुझे सलाम साल 2002 की फिल्म है, जिसमें सनी देयोल, तबू और अरबाज खान थे। जब भारत और पाकिस्तान के बीच भारी तनाव चल रहा था तब इस फिल्म को रिलीज किया गया था। इसके एक डायलॉग ने खूब धमाल मचाया था

Krantiveer

यह फिल्म मेहुल कुमार द्वारा निर्देशित 1994 की भारतीय एक्शन क्राइम फिल्म है। फिल्म में नाना पाटेकर, डिंपल कपाड़िया, अतुल अग्निहोत्री, ममता कुलकर्णी, डैनी डेन्जोंगपा और परेश रावल मुख्य भूमिका में थे। यह साल की तीसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी थी, इस फिल्म के डायलॉग को भी जनता का भरपूर प्यार मिला था

'ये मुसलमान का खून ये हिंदू का खून... बता में मुसलमान का कौनसा हिंदू का कौनसा, बता!' -नाना पाटेकर

Chak De! India

यह फिल्म 2007 की एक भारतीय स्पोर्ट्स फिल्म है, जो आदित्य चोपड़ा द्वारा निर्मित शिमित अमीन और रॉब मिलर (खेल दृश्य) द्वारा निर्देशित है, जिसमें सलीम-सुलेमान का संगीत और जयदीप साहनी की पटकथा है। यह धार्मिक कट्टरता, भारत के विभाजन की विरासत की पड़ताल करता है "मुजे स्टेट्स के नाम ना सुना देते हैं ना दिखाई देते हैं ... सिरफ एक मुल्क का नाम सुनय देता है I-N-D-I-A" - शाहरुख खान

Rang De Basanti

रंग डे बसंती फिल्म साल 2006 में आई थी, जिसे राकेश ओमप्रकाश मेहरा द्वारा निर्मत किया गया था। इस फिल्म हर वर्ग के लोगों को काफी पसंद आई थी, इस फिल्म में मुख्य भूमिका में आमीर खान, सोहा अली खान, आर माधवन, कुणाल, सिद्धार्थ, शरमन जोषी थे। इस फिल्म ने देशभक्ति को एक नई परिभाषा दी थी। इस फिल्म के भी डायलॉग ने लोगों को खूभ लुभाया था "अब भी इसका खून न खौला, खून नहीं वो पानी है... जो देश के काम न आए वो बेकर जवानी है" -आमिर खान

Namastey London

ये फिल्म साल 2007 में आई ड्रामा फिल्म है, जिसमें अक्षय कुमार और कैटरिना कैफ ने मुख्य रुप से भूमिका निभाई थी। इस फिल्म में अक्षय कुमार का एक सीन है जो आज भी हर भारतीय बड़े चाव से देखता है और इस सीन के डायलॉग ने दर्शकों को तालीयां बजाने पर मजबूर कर दिया था। एक कैथोलिक औरत प्रधानमंत्री की कुर्सी एक सिख के लिए छोड़ देती है... और एक सिख प्रधानमंत्री पद की शपथ एक मुस्लिम राष्ट्रपति से देता है... हम देश की भाग दौड़ संभलने के लिए जिस्म अस्सी प्रतिशद लोग हिंदू है- अक्षय कुमार