कभी कुमार गौरव ने अपना कॅरियर दांव पर लगा बचाया था संजय का डूबता कॅरियर

By: भूप सिंह
| Published: 02 Jul 2018, 06:56 PM IST
कभी कुमार गौरव ने अपना कॅरियर दांव पर लगा बचाया था संजय का डूबता कॅरियर
Kumar Gaurav and sanjay dutt

भले ही कुमार गौरव का सिक्का बी-टाउन इंडस्ट्री में नहीं चला हो, लेकिन 80 के दशक में उन्होंने संजय दत्त का फिल्मी कॅरियर सवांरने में अहम भूमिका निभाई थी...

भले ही कुमार गौरव का सिक्का बी-टाउन इंडस्ट्री में नहीं चला हो, लेकिन 80 के दशक में उन्होंने बॉलीवुड के खलनायक कहे जाने वाले अभिनेता संजय दत्त का फिल्मी कॅरियर सवांरने में अहम भूमिका निभाई थी। बता दें कि 80 के दशक में जब संजय दत्त ड्रग्स की लत के शिकार हो गए थे और उनका कॅरियर दांव लगा था तो ऐसे में कुमार गौरव ने उनको लेकर फिल्म 'नाम' प्रोड्यूस की थी। हालांकि इस फिल्म का आइडिया महेश भट्ट का था। इस फिल्म के आने से दो साल पहले कुमार ने संजय दत्त की बहन नम्रता दत्त से शादी की थी।

 

Kumar Gaurav and sanjay dutt

फिल्म 'नाम' के साथ उन्होंने अपने कॅरियर को वापस राह पर लाने की कोशिश की। फिल्म हिट रही, लेकिन फिल्म में संजय दत्त की एक्टिंग को काफी पसंद किया गया। कुमार गौरव के पिता राजेन्द्र नहीं चाहते थे कि वो ये फिल्म करें। बताया जाता है कि राजेंद्र कुमार को डर था कि ऑडियंस की सिम्पथी कुमार की जगह संजय दत्त पर चली जाएगी। हालांकि कुमार ने अपने दोस्त संजय के कॅरियर को बचाने के लिए किसी की नहीं सुनी।

बता दें कि कुमार गौरव बॉलीवुड अभिनेता राजेन्द्र कुमार के बेटे हैं। ये बात अलग है कि कुमार गौरव अपने पिता की तरह सिनेमा के पर्दे पर कब्जा नहीं जमा सके, लेकिन उनकी फिल्म 'लव स्टोरी' आज भी सुनहरी याद जैसी हैं।

Kumar Gaurav and sanjay dutt

साल 1981 में कुमार गौरव की पहली फिल्म 'लव स्टोरी' ब्लॉकबस्टर साबित हुई तो वहीं उनके पिता राजेंद्र कुमार ने डायरेक्शन के क्षेत्र में कदम बढ़ा दिया था। भले ही 'लव स्टोरी ने कुमार को फेमस कर दिया हो, लेकिन उसके बाद आने वाली फिल्मों के फ्लॉप होने से कुमार का कॅरियर बॉलीवुड में काफी डगमगा गया था।

कुमार गौरव बॉलीवुड में अपना सिक्का नहीं चला सके, लेकिन अपने चाहने वालों में उन्होंने अपनी पहचान 80 के दशक में चॉकलेटी बॉय की बना ली थी। हालांकि उन्होंने इस छवि को तोड़ने की कोशिश की लेकिन वो सफल नहीं रहे। उनकी याद इसी अंदाज में सभी के दिल में छप गई। साल 2002 में आई फिल्म 'कांटे' में उन्होंने संजय दत्त के साथ एक बार फिर काम किया। हालांकि ये फिल्म भी कुछ ख़ास प्रदर्शन नहीं कर सकी थी।