scriptwhen dileep kumar suspect as pakistani agent | जब दिलीप कुमार पर लगाया गया पाकिस्तानी जासूस होने का आरोप | Patrika News

जब दिलीप कुमार पर लगाया गया पाकिस्तानी जासूस होने का आरोप

दिलीप कुमार बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता जो अपने अभिनय के लिए भारत समेत दुनियाभर में मशहूर उनकी अभिनय कला ने उन्हें की देशों में सम्मानित करवाया। अभिनय के अलावा अपनी निजी जिंदगी को लेकर भी चर्चा में रहे। लेकिन एक बार उन पर देशद्रोह जैसे आरोप लगे आइये जानते इन आरोपों के पीछे की सच्चाई।

नई दिल्ली

Published: November 19, 2021 12:44:08 pm

दिलीप साहब को बॉलीवुड के अलावा राजनीति के क्षेत्र में पहचाना जाता था। कारगिल युद्ध के समय तात्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने उनका प्रयोग शांतिदूत के तौर पर भी किया था। वह देश की राजनीति में करीब से जुड़े रहे।
जब दिलीप कुमार पर लगाया गया पाकिस्तानी जासूस होने का आरोप
when dileep kumar become suspect of pakistani agent
माना जाता है कि दिलीप साहब का खुले तौर पर कांग्रेस की ओर झुकाव था लेकिन इसके बावजूद उनके संबंध शिवसेना सुप्रीमो बाल ठाकरे के साथ भी बहुत अच्छे थे। 1998-99 में एकाध बार तल्ख संबंधों के अलावा दोनों के ताल्लुकात हमेशा बहुत अच्छे रहे। 98-99 का दौर वही था, जब पाकिस्तान सरकार ने दिलीप कुमार को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘निशान ए इम्तियाज़’ देने की मंशा जताई थी।
यह भी पढें जानें किशोर कुमार ने क्यों छोड़ दिया था अमिताभ बच्चन की फिल्मों में गाना

उस वक्त पाकिस्तान को लेकर दिलीप कुमार के रुख को जानते हुए भी ठाकरे ने सम्मान स्वीकार करने पर ऐतराज किया था। ठाकरे के विरोध से बहुत राजनीतिक बवाल मचा। दिलीप कुमार को सबसे ज्यादा चोट इस बात से पहुंची कि कार्टूनिस्ट से राजनीति में आने वाले तीन दशक पुराने उनके दोस्त ने उनकी निष्ठा और देशभक्ति पर सवाल उठाए।
इस बारे में उन्होंने अपनी आत्मकथा में भी लिखा है। दिलीप कुमार ने उस वक्त के प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी से इस बारे में सलाह मांगी कि उन्हें ये अवॉर्ड लेना चाहिए या नहीं। इस पर वाजपेयी ने कहा था कि बिलकुल लेना चाहिए, क्योंकि वे कलाकार हैं। कलाकार राजनीतिक और भौगोलिक सीमाओं से परे होता है।
यह भी पढें बॉलीवुड के वे हॉट सीन्स, जिन्हें देखकर उड़ गए थे सभी के होश

ये पहला मौका नहीं था जब इस कलाकार को धर्मिक जुड़ाव के कारण निशाना बनाया गया। बहुत पहले साठ के दशक में ‘गंगा जमुना’ को सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद कोलकाता पुलिस की एक टीम ने उनके मुंबई स्थित घर पर छापा डाल दिया।
दिलीप कुमार को कहा गया कि वे पाकिस्तानी जासूस है और उन्हें गिरफ्तार करने की धमकी भी दी गई। दिलीप कुमार के घर पर ये कार्रवाई का आधार ये था कि कोलकाता पुलिस ने एक पाकिस्तानी जासूस को गिरफ्तार किया था, जिसके पास से एक डायरी मिली थी।
डायरी में दिलीप कुमार समेत बहुत से बड़े लोगों के नाम थे। इस तफ्तीश में पुलिस का सबसे ज्यादा घटियापन ये दिखा कि उसने लिस्ट में दर्ज किए गए हिंदुओं को कांट्रेक्ट माना और मुसलमानों को दुश्मन का एजेंट। चूंकि पूरा मामला ही बेवजह के तर्कों पर था, लिहाजा उससे इस बड़े कलाकार को बहुत तकलीफ हुई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.