Sawan Kanwar Yatra 2018 : बरेली-बदायूं हाईवे पर कांवड़ियों का उत्पात, ट्रक और बस में लगाई आग, देखें वीडियो

Sawan Kanwar Yatra 2018 : पुलिस और प्रशासन की लापरवाही इस बात से दिख रही है कि आखिर भारी वाहनों को क्यों निकलने दिया गया, जबकि कांवड़ियों की भीड़ चल रही है।

By: Bhanu Pratap

Updated: 10 Aug 2018, 01:33 PM IST

बदायूं। डीसीएम की चपेट में आने से दो दर्जन कांवड़िया घायल हो गए। इसके बाद कांवड़ियों ने जमकर उत्पात किया। गुस्साए कांबड़ियों ने गद्दों से भरी एक डीसीएम को आग के हवाले कर दिया। आधा दर्जन से ज्यादा ट्रक और एक रोडवेज बस में तोड़फोड़ की। घटना की जानकारी होने पर पुलिस अधीक्षक (नगर) कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने गंभीर रूप से घायल एक दर्जन कांवड़ियों को बदायूं जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। कुछ को बरेली रेफ़र किया गया है। घटना के बाद पुलिस ने बरेली-बदायूं हाईवे पर पूरी तरह बंद कर दिया। यह घटना बिनावर थाना क्षेत्र के बदायूं-बरेली हाईवे के घटपुरी की है।

यह भी पढ़ें

Kanwar Yatra2018 : कांवड़ यात्रा से मुस्लिम खौफ में, गाँव से पलायन

डीसीएम को आग के हवाले किया

बरेली जनपद के किला थाना क्षेत्र के छावनी के रहने वाले 100 से अधिक कांवड़िया कछ्ला गंगाघाट से जल लेने के लिए गुरुवार की रात में निकले। रात करीब 12.40 पर मैजिक गाड़ी से कांवड़ ले जाए जा रहा थे। रास्ते में कांवड़ हिलने लगी। चालक ने गाड़ी रोक दी और कांवड़ को रस्सी से कसने लगा। मैजिक पर सवार कांवड़िए नीचे उतर आए और खड़े हो गए। तभी पीछे से आ रही एक डीसीएम ने इन कांवड़ियों को अपनी चपेट में ले लिया। कुछ कांवड़ियों ने आगे निकले साथियों को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने वापस आकर गद्दों से भरी एक डीसीएम को आग के हवाले कर दिया। पास से गुजर रही एक रोडवेज और आधा दर्जन ट्रकों में जमकर तोड़फोड़ कर दी। घटना की सूचना होते ही कई थानों की फ़ोर्स मौके पर पहुंची। मौके पर एसडीएम सदर पारसनाथ मौर्य के समझाने के बाद कांवड़िया शांत हुए। गम्भीर रूप से घायल नौ कांवडियों को बदायूं जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें

छह दिनों से लापता किशोर का शव मिला, हत्या का आरोप

 

कोई मामला दर्ज नहीं

घटना के बाद पुलिस ने जले ट्रक को सहित सभी वाहनों को थाने भिजवाया। अभी तक पुलिस ने किसी के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया है। वहीं पुलिस और प्रशासन की लापरवाही इस बात से दिख रही है कि आखिर भारी वाहनों को क्यों निकलने दिया गया, जबकि कांवड़ियों की भीड़ चल रही है।

यह भी पढ़ें

पीलीभीत स्वाधार गृह में छापा, मिलीं अनियमितताएं

 

क्या कहते हैं ट्रक चालक और कांवड़िया

ट्रक चालक बच्चन निवासी अलीगढ़ ने बताया कि कांवड़ वालों ने तोड़फोड़ की है। हमारा पर्स और मोबाइल ले गए हैं। हर गाड़ी के कांच टूटे हुए हैं। हमारी गाड़ी साइड में खड़ी हुई थी। घायल कांवड़िया का कहना है कि हम खड़े हुए थे। एक गाड़ी आई और अचानक ही ठोकती हुई चली गई। हम 25-30 लोग थे।

यह भी पढ़ें

BIG NEWS देवरिया शेल्टर होम के बाद पीलीभीत में बड़ा खुलासा

 

 

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned