2019 लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा में बगावत, सब के फूले हाथ-पांव

2019 लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा में बगावत, सब के फूले हाथ-पांव

Nitin Sharma | Publish: Sep, 02 2018 02:06:49 PM (IST) Bulandshahr, Uttar Pradesh, India

इन सदस्यों ने जारी किया अविश्वास प्रस्ताव पत्र

बुलंदशहर।जहां एक तरफ सभी राजनीतिक पार्टियां 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गर्इ है। वहीं भाजपा नेताआें में बगावत शुरू हो गर्इ है।इसका एक ताजा मामला यूपी के बुलंदशहर जिले में सामने आया है।जहां दिग्गज नेता के खिलाफ पार्टी के अन्य नेताआें ने ही अविश्वास प्रस्ताव पत्र जारी किया है। यह किसी आेर ने नहीं बल्कि जिला पंचायत के 53 में से 33 सदस्यो ने अध्यक्ष पर विकास में भेदभाव का आरोप लगा कर वर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने को आवेदन पत्र दिया है।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें-आजम खान के खिलाफ यह काम करने रामपुर पहुंचे अमर सिंह के समर्थक

पत्र सौंपकर भाजपा के इस दिग्गज नेता ने अपनी ही पार्टी के लोगों ने की हटाने की मांग

जिला पंचायत के 53 में से 33 सदस्यों ने अध्यक्ष पर विकास में भेदभाव का आरोप लगा कर वर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने को आवेदन पत्र दिया है। वर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष की अब कुर्सी खतरे में दिख रही है।यह नेता कोर्इ आेर नहीं बल्कि बुलंदशहर जिले में भाजपा का पंचायत जिला अध्यक्ष प्रदीप चौधरी है।प्रदीप चौधरी ने अध्यक्ष पद पर अपना एक ही साल का कार्यकाल पूरा किया है। लेकिन अब जिला पंचायत सदस्यों का कहना है भाजपा के अध्यक्ष होने के बाद भी कहीं विकास नहीं नजर आता।जबकि गैर भाजपाइयों के क्षेत्रों में कुछ काम वो ज़रूर कर पाए हैं।सदस्यों ने भाजपा के ही सदस्य महेंद्र भैया के नेतृत्व में एडीएम को अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास दिखाते हुए सदस्यों के साथ शपथ पत्र देकर अध्यक्ष को हटाने के लिए वैधानिक कार्रवार्इ करने की मांग की है।

यह भी पढ़ें-बड़ी खबरः शिवपाल की रैली से पहले भाजपा की इस पूर्व दिग्गज विधायक ने दिया इस्तीफा,शुरू हुर्इ यह चर्चा

इससे पहले एक अन्य नेता के खिलाफ जारी किया अविश्वास पत्र

बुलंदशहर जिला पंचायत की कहानी अपने आप में अलग है। इसकी वजह एक साल पहले पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरेंद्र यादव के खिलाफ भी पार्टी के इन्हीं सदस्यों द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। इसके बाद प्रदीप चौधरी को चुना गया था। अब एक साल बाद यानि 29 अगस्त को उनका जिला पंचायत अध्यक्ष के रूप में एक वर्ष पूरा हुआ है। लेकिन सदस्य उनके कार्यकाल में हुए विकास कार्य से खुश नहीं हैं और उन्होंने भाजपा से जुड़े जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी पर अविश्वास प्रस्ताव का आवेदन कर दिया।

अपनी ही पार्टी के नेताआें ने अध्यक्ष पर लगाए आरोप

फिलहाल बुलंदशहर जिला पंचायत में वर्तमान जिला पंचायत के खिलाफ विरोध का बिगुल बज चूका हैं। सदस्य अब वर्तमान अध्यक्ष प्रदीप चौधरी के खिलाफ खुलकर सामने आने लगे हैं। जिला पंचायत सदस्यों का कहना है की वर्तमान अध्यक्ष को एक साल हो गया। कहीं विकास नजर नहीं आता तो सदस्यों ने अपर जिलाधिकारी से मिलकर इस बारे में विधि सम्मत कार्रवार्इ करने की मांग की है। वहीं सदस्यों ने आरोप लगाया की वर्तमान अध्यक्ष के कार्यकाल में हुए विकास कार्य से सदस्य खुश नहीं है और उन्होंने भाजपा के निर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी पर अविश्वास प्रस्ताव का आवेदन कर दिया है। अविश्वास प्रस्ताव आवेदन के इस पूरे प्रकरण में खास बात यह है कि जो सदस्य इस समय बीजेपी के ही वर्तमान अध्यक्ष का विरोध कर रहे हैं। वो सब भी भाजपा के ही लोग हैं। सदस्यों को लामबंद करके अगुवाई कर रहे जिला पंचायत सदस्य महेंद्र भैया ने वर्तमान अध्यक्ष पर कई आरोप भी लगाये है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned