कैराना-नूरपुर उपचुनाव में अब भाजपा ने इस जिले के नेताओं को भी उतारा, गांव-गांव जाकर मांग रहे वोट

दांव पर लगी है सीएम योगी प्रतिष्ठा, विपक्ष भी लगा रहा पूरा जोर

By:

Published: 23 May 2018, 08:18 PM IST

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश में भाजपा द्वारा फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीट हारने के बाद आगामी उपचुनाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा दोनों के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है। वहीं भाजपा ने इस चुनाव को जीतने के लिये पूरी ताकत झोंक दी है । कैराना और नूरपुर सीटों पर हो रहे उपचुनाव में बुलंदशहर जनपद से भी पार्टी के पदाधिकारियों के अलावा सांसद और विधायक भी चुनाव प्रचार में उतार दिए हैं।

यह भी पढ़ें-कर्नाटक के बाद अब इन सीटों पर भाजपा को पटखनी देने पर हैं विरोधी दलों की निगाहें

योगी ब्रिगेड में नूरपुर और कैराना सीटों को जीतने के लिए यूपी सरकार के कई दर्जन मंत्री और केंद्र सरकार के भी कई दर्जन मंत्री चुनाव प्रचार की कमान संभाले हुए हैं। बात करें बुलंदशहर की तो बुलंदशहर से 100 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ता और पदाधिकारी कैराना और नूरपुर में डेरा डाले हुए हैं। योगी सरकार को डर है कि फूलपुर और गोरखपुर में हार के बाद कहीं यहां भी हार देखने को न मिले। इसलिए योगी सरकार यहां पूरा दमखम लगाए हुए है। नूरपुर की बात करें तो नूरपुर में भाजपा के कई मंत्री डेरा डाले हुए हैं। इनमें बुलंदशहर के भाजपा विधायक वीरेंद्र सिंह सिरोही व सांसद डॉ. भोला सिंह सूर्यवंशी भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें-जब इस विधायक ने कर दी कांग्रेस का बटन दबाकर भाजपा प्रत्याशी को जिताने की अपील और फिर...

ये सभी लोग नूरपुर और कैराना सीट से भाजपा प्रत्याशियों अवनी सिंह और मृगांका सिंह को जिताने के लिए गांव-गांव जाकर लोगों से अपील कर रहे हैं साथ केंद्र और प्रदेश सरकार की उपलब्धियां भी जनता के बीच गिना रहे हैं। आपको बता दें कि कैराना और नूरपुर सीटों के लिए 28 मई को मतदान होगा जबकि मतगणना 31 मई को होगी। कैराना सीट भाजपा सांसद हुकुम सिंह का जनवरी में बीमारी से निधन होने जबकि नूरपुर सीट भाजपा विधायक लोकेंद्र चौहान के सड़क हादसे में निधन के बाद खाली हुई हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned