यूपी सरकार की गौशालाओं में गायों को खा रहे चील, कौए और कुत्ते, तस्वीरें देखकर सिहर उठेंगे आप

  • यूपी सरकार की गौशालाएं गायों के लिए बनीं मौत का घर
  • चारा और पानी के अभाव में भूक से दम तोड़ रहे हैं गोवंश
  • एक महीने में 30 गोवंश के मरने की बात आई सामने

By: Iftekhar

Updated: 30 Apr 2019, 08:30 PM IST

बुलंदशहर. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी भले ही गाय प्रेम में जी भरकर बजट लूटा रहे हों, लेकिन सरकार के नौकरशाह गाय को चारा और पानी तक उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं। प्रदेश के बुलंदशहर में सरकारी गौशालाओं में गाय लापरवाही के चलते भूख और प्यास से तड़प-तड़प कर दम तोड़ रही है। बेजुबान गायों को गौशाला में नोच-नोच पशु पक्षी अपनी भूख मिटा रहे हैं। यहां गायों को चील कौवे और कुत्ते खा रहे हैं। गौशालाओं की इस बदतर हालात पर सरकारी कारिंदे मौन हैं। मीडिया में खबर आ जाने के बाद इनके हलक सूख गए हैं और जुबान बंद है। ग्रामीण यहां की गौशालाओं की एक-एककर सच बता रहे हैं। लोग दावा कर रहें हैं कि एक माह में तीस से अधिक गायों की मौत एक ही गौशाला में हुई है। इसके अलावा अन्य स्थानों पर भी गौशालाओं का यही हाल है, लेकिन प्रशासन ने मीडिया द्वारा जगाने पर मृत गायों को गौ शाला में दबा दिया और मीडिया को कुछ भी बताने से इंकार कर दिया।

बुलन्दशहर के गांव बढ़पुर की गौशाला में जो नजारा है उसे देखर किसी भी पशु प्रेमी का दिल दहल उठेगा। यहां प्रशासन की लापरवाही के चलते भूख और प्यास से तड़प- तड़पकर बेजुबान गाय दम तोड़ रही है। लापरवाही की हद तो तब पार हो रही है, जब गाय को चील कौवे और कुत्ते नोच-नोच कर खा रहे हैं। लेकिन किसी भी अधिकारी का अभी इस ओर कोई ध्यान नहीं है। बुलंदशहर के थाना अहमदगढ़ क्षेत्र के गांव बुद्धपुर में बनी गौशाला में भूख प्यास से परेशान बेजुबान गोवंश तड़प-तड़पकर मौत को गले लगा रहे हैं। गौशाला में भूख प्यास से तड़प-तड़पकर मौत को गले लगा रही इन बेजुबान गायो को देखकर शैतान का भी कलेजा कांप जाए, लेकिन गौशाला का ठेका लेने वाले व्यक्ति का कलेजा नहीं कांप रहा है।

बुलंदशहर के थाना अहमदगढ़ क्षेत्र के गांव बुद्धपुर में गौशाला में बेजुबान गायों के मरने का सिलसिला जारी है। पहले भी इस गौशाला में कई गायों की मौत हो चुकी है। रविवार को भी 6 गायों की मौत हो गयी। हद तो जब पार हो गई जब गायों की देखरेख में तैनात लोगों की लापरवाही के चलते मृत गाय के शरीर को चील, कौवे व कुत्ते नोंच नोंच कर खा रहे है। अब सवाल यह उठता है कि क्या सीएम योगी ने आपने इन बेजुवानों का पालन करने का जिम्मा कागजों पर ही कर डाला है। या अधिकारी अपनी जिम्मेदारी निभाने को तैयार नही हैं। अधिकतर गोशालाओं में लापरवाही के चलते गाये मौत के मुंह में समां रही हैं।

यहां काम करने वाले मजदूर ने बताया कि हां पर भूख प्यास से यह गाय मर रही हैं, क्योंकि इनको चारे की कोई व्यवस्था नहीं है। भीषण गर्मी में भी यहां गये खुले में रहती हैं। लोगों का आरोप है कि प्रशासन सुन नहीं रहा है। जिसकी वजह से लगातार गाय की मौत यहां पर हो रही है। राजू चौकीदार ने बताया कि गौशाला में अब तक 15 से 20 गाय की मौत हो गई है। मौके पर पहुंचे पशुधन प्रसार अधिकारी अनिल कुमार ने बताया कि यहां पर चारा और पानी की व्यवस्था ठीक नहीं है। धूप ज्यादा पड़ रही है इससे 3, 4 मौतें हुई हैं।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned