Lockdown: देश-विदेश में विख्यात खुर्जा का पॉटरी उद्योग को अब सरकार से ये आखिरी उम्मीद

वैश्विक महामारी की वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडेक्ट में शामिल पॉटरी उद्योग चरमरा गया है

By: virendra sharma

Updated: 16 May 2020, 04:07 PM IST

बुलंदशहर। वैश्विक महामारी की वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडेक्ट में शामिल पॉटरी उद्योग चरमरा गया है। पॉटरी मालिक को काफी नुकसान हुआ हैै। सरकार से कारोबार को उभारने की उम्मीद में है। सभी का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते उन्हें बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है। सरकार ने सहयोग किया तो हम दोबारा लोकल को वोकल बनाएंगे।

जनपद के खुर्जा कस्बे में सैकड़ों साल पुरानी मुगलकालीन पॉटरी उद्योग की हालत खस्ता हो गई है। मजदूर अपने-अपने प्रदेश रवाना हो गए। पॉटरी मालिक कच्चे माल को तरस गए। लॉकडाउन की वजह से पॉटरी उद्योग पूरी तरह बंद है। तैयार माल फैक्ट्रियों में बंद पड़ा है। फैक्ट्रियों के हालात बिल्कुल सुनसान है। हालांकि, लॉकडाउन 3.0 में मजदूर को बुलाकर साफ सफाई कर फैक्ट्री मालिक शुरुआत की तैयारी में है। व्यापारियों का कहना है कि बैंक लोन, मजदूरों का वेतन, ट्रांसपोर्ट का भाड़ा समेत अन्य समस्याएं है।

फैक्ट्री मालिक सुरेश का कहना है कि इस लॉकडाउन उनके बड़े भाई पैरालाइज की स्थिति में पहुंच गए। तनाव इतना बढ़ गया कि हालात झेल नहीं पा रहे है। पॉटरी संचालक राजीव बंसल, पुनीत, महेंद्र सैनी सुन्दर सैनी ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान उद्योग बंद हो गए। उनका कहना है कि करोड़ों का नुकसान हो चुका है। अभी उम्मीद नहीं।

virendra sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned