बरसात से उड़द की खराब फसल के साथ किया विरोध प्रदर्शन

बरसात से उड़द की खराब फसल के साथ किया विरोध प्रदर्शन

Nagesh Sharma | Publish: Sep, 10 2018 09:10:24 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

बरसात से उड़द की फसल में हुए खराबे का मुआवजा देने की मांग को लेकर किसानों ने सोमवार को उपखण्ड अधिकारी कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया।

नैनवां. बरसात से उड़द की फसल में हुए खराबे का मुआवजा देने की मांग को लेकर किसानों ने सोमवार को उपखण्ड अधिकारी कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। किसान अपने साथ बरसात से खराब हुई उड़द की फसल भी लेकर आए थे। प्रधान प्रसन्नबाई मीना, डोडी के सरंपच शांतिलाल मीणा सहित डोडी, उरासी, मानपुरा, लक्ष्मीपुरा, पाण्डुला, डोकून, गुढादेवजी, खजूरी, जरखोदा, गुढासदावर्तिया, मरां, सहण, बांसी, सुवानियां गांव के किसानों ने उपखण्डअधिकारी को ज्ञापन देकर समस्या बताई। उन्होंने खराब फसल को उपखंड अधिकारी को दिखाया। किसानों ने बताया कि चार दिन से लगातार हो रही बरसात से खेतों में पकी पकाई फसल चौपट हो गई। उन्होंने उड़द की फसल में हुए खराबे का सर्वे करवाकर किसानों को प्रति बीघा पांच हजार रूपए का मुआवजा दिलाने की मांग की। इस पर उपखंड अधिकारी पूजा सक्सेना ने फसलों में हुए खराबे का पटवारियों से सर्वे कराने का आश्वासन दिया।
चौपट होने के कगार पर उड़द
भण्डेड़ा.क्षेत्र की आठ ग्राम पंचायतों में लगातार हलकी फुहारे गिरने से उड़द की फसल अंकुरित होकर चौपट होने के कगार पर है।
जानकारी के अनुसार सादेड़ा, मरां, बांसी डोडी डोकुन, दुगारी, भजनेरी गुढासदावर्तीया के लगने वाले गांवों के किसानों ने इस समय 5 हजार 500 हैक्टेयर भूमि में उड़द की फसल की बुवाई की गई थी। इस समय फसल की फलिया पका चुकी है व फसल कटाई के कगार पर चल रही है, लेकिन क्षेत्र में इस समय हर रोज रिमझिम बरसात के चलने से फसल की फलिया में दाने अंकुरित होने लगी है।
किसान लादुराम सेन, महावीर शर्मा, भैरवलाल गुर्जर आदि का कहना है कि फसल में इस समय हो रहे खराबे का संबंधित विभाग के अधिकारियों के द्वारा सर्वे करवाना चाहिए। जबकी क्षेत्र में अभी तक भी विभाग ने सर्वे नही किया गया है। कुछ खेतों में अभी भी पानी भरा हुआ है। किसानों का कहना है कि फसल में दो दो बार तो दवाई का छिड़काव कर चुके। अब फसल पकने लगी है, लेकिन बरसात ने परेशानी बढ़ा दी है। जिससे फसल में लगा खर्चा निकलना भी मुश्किल हो रहा है। इधर बांसी सहायक कृषि अधिकारी महावीर प्रसाद मीणा ने बताया कि इस संबंधत में उच्च अधिकारियों को अवगत करवा दिया है ।
देईखेड़ा.क्षेत्र में हुई बरसात के बाद खेतों में पानी भर जाने से किसान चिंतित है। फसलों में पानी भर जाने से सोयाबीन के खेतों में पानी भर रहा है। किसान नेता रामगोपाल मीणा ने बताया कि यहां पर पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं होने से हर साल किसानों को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned