चम्बल के उफान से बदहाल हो गए घाट

pankaj joshi | Updated: 12 Oct 2019, 09:28:48 PM (IST) Bundi, Bundi, Rajasthan, India

चर्मण्यवती (चम्बल नदी) में रविवार से कार्तिक स्नान शुरू होगा।

केशवरायपाटन. चर्मण्यवती (चम्बल नदी) में रविवार से कार्तिक स्नान शुरू होगा। इसके बावजूद चम्बल नदी के घाटों पर अभी तक साफ-सफाई नहीं हो पाई। केशव घाट व महिला घाट तक जाने का रास्ता तक नहीं बचा है। श्रद्धालुओं को उखड़े पटान व अवरूद्ध रास्ते से ही घाटों तक पहुंचना पड़ेगा।
गत दिनों चम्बल नदी में आए उफान से धार्मिक नगरी में स्थित भगवान मंदिर परिसर में पानी आ गया था। घाटों से पानी उतरने के बाद चारों तरफ बजरी व मलबा जमा हो गया। इससे घाटों पर गंदगी ही गंदगी नजर आ रही है। केशव घाट में एक दशक पहले लगाई गई टाइल्स पानी से उखड़ गई। चम्बल नदी के किनारे पुरातत्व विभाग के तत्वावधान में बनाई गई छतरियों के अवशेष बिखरे पड़े हैं। केशव घाट का मुख्य रास्ता टूटी छतरियों के पत्थरों ने रोक दिया है। चम्बल के किनारे जगह-जगह छतरियां बिखरी पड़ी है। ५५ लाख रुपए की लागत के पत्थर नाव घाट से महिला घाट तक बिखरे पड़े हैं।



राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned