उपज को खेत से निकालने में जुट रहे किसान

भण्डेड़ा. क्षेत्र में शकरकंद की फसल करने वाले किसान इस समय खेतों से शकरकंद की फसल की खुदाई कर कट्टे भरकर बेचने जा रहे हैं, मगर किसानों को उचित दाम नहीं मिलने से किसानों में निराशा हैं।

By: pankaj joshi

Published: 01 Dec 2020, 07:20 PM IST

उपज को खेत से निकालने में जुट रहे किसान
भण्डेड़ा. क्षेत्र में शकरकंद की फसल करने वाले किसान इस समय खेतों से शकरकंद की फसल की खुदाई कर कट्टे भरकर बेचने जा रहे हैं, मगर किसानों को उचित दाम नहीं मिलने से किसानों में निराशा हैं।
जानकारी के अनुसार क्षेत्र के बांसी, सादेड़ा व रामगंज में इन दिनंो किसान मजदूर लगाकर खेतों से शकरकंद की फसल की खुदाई करवाकर कट्टे भरकर बेचने के लिए वाहनों से कोटा, बूंदी आदि जिलों में पहुंचा रहे है। किसान हेमराज सैनी ने बताया की हर वर्ष दस से पन्द्रह बीघा शकरकंद की फसल लगाता हूं पर इस बार बरसात कम होने से शकरकंद की पैदावार भी कम आ रही है व बेचने जाते है तो मंडियों में भी भाव कम मिलने से किसानों को दोहरा नुकसान उठाना पड़ रहा है यही हाल अन्य किसानों का है जिनके शकरकंद की फसल है सभी किसान दाम व उपज से काफी परेशानी में है।

 


तालाब गांव में शुरू हुई सफाई
हिण्डोली. ग्राम पंचायत तलाव गांव में सोमवार को ग्राम पंचायत द्वारा सफाई कर्मी ,जेसीबी व ट्रैक्टर लगाकर नालियों की सफाई शुरू की है। जिससे रास्ते पर भरे पानी को निकाला। उपसरपंच कयामुद्दीन ने बताया कि मुस्लिम मोहल्ले में लोगों के घरों के बाहर सडक़ों पर पानी भरा था। यहां पर नालियों की सफाई नहीं होने से लोग परेशान थे। सोमवार को राजस्थान पत्रिका में समाचार प्रकाशित होने के बाद ग्राम पंचायत नींद खुली। सोमवार को सफाई का कार्य शुरू करवाया। उपसरपंच कयामुद्दीन ने बताया कि गांव में छह माह से सफाई नहीं हो रही थी। इससे लोगों में भारी रोष है।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned