लगातार हुई बारिश से फसलें हो गई चौपट

लगातार हुई बारिश से फसलें हो गई चौपट

DEVENDRA DEVERA | Publish: Sep, 11 2018 09:52:15 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

बड़ानयागांव क्षेत्र में मंगलवार सुबह से ही रुकरुक कर रिमझिम बरसात का दौर जारी रहा। क्षेत्र में रिमझिम बरसात होने से अब खेतों में खड़ी उड़द की फ सल में खराब होने लगा है।

उड़द की फ सल में होने लगा खराबा
बड़ानयागांव. बड़ानयागांव क्षेत्र में मंगलवार सुबह से ही रुकरुक कर रिमझिम बरसात का दौर जारी रहा। क्षेत्र में रिमझिम बरसात होने से अब खेतों में खड़ी उड़द की फ सल में खराब होने लगा है। जिससे किसान मायूस होने लगे हैं। कांग्रेस किसान खेत मजदूर के जिला महासचिव सतवीर गुर्जर ने बताया कि इस समय क्षेत्र के बड़ानयागांव, सथूर, बड़ोदिया, हरिपुरा, दाता, कुंडला, खातीखेड़ा, जड़कानयागांव, अशोकनगर, चेंता, चतरगंज, कल्याणपुरा, रामी की झोपडिय़ां सहित क्षेत्र के अन्य गांवों में खेतों में उड़द की फसल पककर तैयार होने लगी है। बरसात से उड़द के पौधों में पककर तैयार हो रही फ लिया खराब होने लगी है। जिससे किसानों को फ सल में नुकसान उठाना पड़ेगा। जिला प्रशासन को उड़द की फसल में खराबा का सर्वे करवाकर पीडि़त किसानों को मुआवजा देना चाहिए।
इंद्रगढ़. क्षेत्र में निरंतर हो रही वर्षा के चलते खेतों में पानी भरने से किसानों की फ सलें चौपट हो गई है। भाजपा इंद्रगढ़ ग्रामीण मंडल के अध्यक्ष हिम्मत सिंह हाड़ा व किसान नेता श्याम दीक्षित ने बताया कि लगातार बारिश होने से क्षेत्र के नवलपुरा, दौलतपुरा, बलवन, बाबई, गुढ़ा, चांदा खुर्द, मोहनपुरा व सुमेरगंज मंडी आदि ग्राम पंचायतों के गांव में ज्यादातर किसानों के खेतों में पानी भरने से उनकी उड़द, मूंग, ज्वार, बाजरा, मक्का तथा सोयाबीन की फ सलें पानी में डूबने से नष्ट हो गई। उन्होंने मुख्यमंत्री से किसानों की खराब हुई फ सलों का सर्वे कराकर बीमा राशि का भुगतान कराने की मांग की।
केशवरायपाटन. सिंचित क्षेत्र में चल रही बारिश ने किसानों के अरमानों पर पानी फेर कर रख दिया। उड़द की फलियों में दाने अंकुरित हो गए। केशवरायपाटन, लेसरदा, मायजा, कोडीजा गांव के किसानों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन भेज कर उड़द के खराबे का आंकलन करवा कर मुआवजा दिलाने की मांग की है। लेसरदा के किसान विष्णु शर्मा, कोडीजा के सोहनलाल बोहरा ने बताया कि क्षेत्र में उडद शत् प्रतिशत खराब हो गया है। फलियां अंकुरित हो गई। खेतों में अभी पानी भरा है। फसलों को अब धूप की जरूरत है, लेकिन सूर्यदेव के दर्शन तक नहीं हो पा रहे है। कस्बे में चल रही बारिश से जन जीवन प्रभावित होने लग गया है। मंगलवार को सुबह से ही रिमझिम बारिश शुरू हो गई, जो तीन बजे तक चली। किसानों ने बताया कि फसलों के लिए अब बारिश नुकसान का कारण बनती जा रही है। उड़द की फसल तो किसानों के हाथ से निकल चुकी है।
नोताड़ा. कस्बे में सात दिन से हो रही बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही है। मंगलवार को भी सुबह आठ बजे से शुरू हुआ बारिश का दर दोपहर तीन बजे तक चला। कभी रिमझिम तो कभी तेज बारिश होती रही है। वहीं लगातार हो रही बारिश से किसानों को काफी परेशानी हो रही है। खेतों में पानी भरने से उड़द की फ सल खराब होने लगी है। कच्चे व पक्के मकानों में सीलन आने लगी है।
अतिवृष्टि से खेतों में उड़द फ सल के खराबे को लेकर भाजपा कार्यकर्ता बलराम मालव, साहबलाल गुर्जर, भाजयुमो मण्डल अध्यक्ष सत्यनारायण जंगम, किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष रामसिंह चौधरी, बुद्धिप्रकाश, बनवारीलाल नागर ने कृषि विभाग के अधिकारियों व राजस्व विभाग के अधिकारियों से संयुक्त मुआयना करवाकर मुआवजा दिलवाने की मांग की है। ग्राम पंचायत नोताड़ा के सरपंच बलराम मालव ने बताया कि लगातार हो रही बारिश से क्षेत्र के कई खेतों में पानी भर गया है, जिससे फ सलें जलमग्न हो गई।
खटकड़. क्षेत्र में मंगलवार को 9 बजे झमाझम बारिश शुरू हुई, जो एक घण्टे चली। उसके बाद कभी रिमझिम व कभी तेज बारिश होती रही। जिससे खेतों में पानी भर गया। उड़द फ सल में खराबे की आशंका बढ़ गई। उधर किसान व सरपंच ओमप्रकाश शर्मा, जोगेन्द्र सिंह, लोकेश बैरागी ने बताया कि
उड़द की फ सल चौपट होने के कगार पर है। इससे किसानों को काफी नुकसान होगा।
मुआवजा दिलाने की मांग
कापरेन. क्षेत्र में पिछले दिनों से हो रही बरसात के चलते सोयाबीन, उड़द व मूंग की फसल को गहरा नुकसान हुआ है। कांग्रेस के प्रहलाद गोचर, अरुण मीणा, मुकेश बोहरा, विवेक नागर, मनोज शर्मा आदि ने सम्भागीय आयुक्त को ज्ञापन भेजकर बरसात से हुए फसल खराबे का सर्वे करवाने, मुआवजा दिलाने व फसल बीमा का लाभ दिलाने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि बरसात होने से उड़द की फसल पूरी तरह से नष्ट हो गई हैं। वही सोयाबीन की फसल में भी 50 फीसदी नुकसान हो चुका है। ऐसे में किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है।
उड़द खरीद केन्द्र खोलने की मांग
दबलाना. भारतीय किसान संघ तहसील दबलाना के अध्यक्ष दुर्गालाल नागर के नेतृव में मंगलवार को किसानों ने नायब तहसीलदार दबलाना को ज्ञापन देकर सर्मथन मूल्य पर उड़द का खरीद केन्द्र खोलने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि क्षेत्र में इस बार उड़द फ सल का रकबा अधिक है तथा दस पन्द्रह दिन में फ सल तैयार होने वाली है। इस क्षेत्र में उड़द का सर्मथन मूल्य का केन्द्र खोलने से किसानों को अच्छा भाव मिल सकेगा। ज्ञापन देने वालों में किसान संघ के तहसील मंत्री भोलाशंकर नागर, सियाराम, मोहनलाल, प्रहलाद नागर आदि शामिल थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned