एक बच्चे की वजह से चल रहा स्कूल

DEVENDRA DEVERA

Publish: Jul, 13 2018 03:50:29 PM (IST)

Bundi, Rajasthan, India
एक बच्चे की वजह से चल रहा स्कूल

शिक्षा विभाग में वैसे तो नामांकन बढ़ाने के लिए तमाम प्रयास करने के दावे के किए जाते हैं,लेकिन इसके उलट कई बार नियमों को ताक में रखकर कारनामे कर दिए जाते हैं।

नैनवां. बूंदी. चार जुलाई को शिक्षिका स्नेहलता नागर का शून्य नामांकन वाले जुवाणो का झोंपड़ा के प्राथमिक विद्यालय में तबादला हुआ। शिक्षिका को ज्वाइनिंग दिलाने के लिए पांच जुलाई को कक्षा चार में एक बालिका शिवानी गुर्जर का नामांकन दर्ज कराया तथा 6 जुलाई को शिक्षिका को ज्वाइनिंग दिला दी। अपने आला अधिकारी के आदेश की पालना करवाने के लिए जिले के शिक्षाधिकारियों ने यह कारनामा किया है। जिस बालिका शिवानी गुर्जर का वापस नामांकन दर्ज कराया उस बालिका की ही विद्यालय से 28 जून को ऑनलाइन टीसी काटकर विद्यालय का नामांकन शून्य बताया था।

यह बालिका इसी विद्यालय में पोषाहार बनाने वाली कुक-कम हेल्पर की दोहिती है। टीसी कट जाने से बालिका पास ही के दूसरे विद्यालय कीरों का झोपड़ा उच्च प्राथमिक विद्यालय में पढऩे भी जाने लग गई थी। विद्यालय में मात्र एक बालिका का नामांकन कराकर उसे पढ़ाने के लिए एक शिक्षिका को लगवा दिया।

मर्ज करना था
शिक्षा विभाग के सूत्रों ने बताया कि जिस विद्यालय में 15 से कम नामांकन हो जाता है है उस विद्यालय को नजदीक के ही दूसरे विद्यालय में मर्ज करना होता है। सरकार ने जुवाणों का झोपड़ा प्राथमिक विद्यालय 3 मई 2013 को शुरू किया था। 2016 में 14 का तथा वर्ष 2017 में 6 का नामांकन रहने के बाद 2018 में शून्य हो जाने के बाद भी विद्यालय को मर्ज नहीं किया। जबकि इस विद्यालय से मात्र पांच सौ मीटर की दूरी पर ही दूसरा उच्च प्राथमिक विद्यालय स्थित है।

आदेश की पालना की
जुवाणों का झोपड़ा में नियुक्त शिक्षक स्नेहलता नागर ने जिला शिक्षाधिकारी प्रारम्भिक के चार जुलाई के आदेश की प्रति दिखाते हुए कहा कि मैने तो जिला शिक्षाधिकारी के आदेश की पालना की है। हां यह सत्य है कि चार जुलाई तक विद्यालय में नामांकन शून्य था। पांच जुलाई को एक बालिका शिवानी का कक्षा चार में नामांकन दर्ज हुआ था। मैने 6 जुलाई को ज्वाइन किया है।

शाला दर्पण में तो विद्यालय में 6 का नामांकन दर्ज है। उसके आधार पर ही शिक्षिका का विद्यालय में तबादला हुआ तथा उसी आधार पर ज्वाइन करवाया है।
हुकुमचंद गुप्ता, जिला शिक्षाधिकारी प्रारम्भिक, बूंदी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned