परिवहन को साधनों को तरसे राहगीर, ग्रामीण परिवहन बस सेवा बंद होने से दिक्कत

कांगे्रस सरकार में शुरू हुई रोडवेज की ग्रामीण परिवहन बस सेवा भाजपा सरकार में दम तोड़ चुकी है।

By: Narendra

Published: 13 Mar 2018, 12:54 PM IST

बूंदी. कांगे्रस सरकार में शुरू हुई रोडवेज की ग्रामीण परिवहन बस सेवा भाजपा सरकार में दम तोड़ चुकी है। बीते सात माह से रोडवेज प्रशासन ने ग्रामीण परिवहन बस सेवा को बंद कर रखा है। इन हालातों में दूर दराज के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले आमजन को अब परिवहन साधनों के लिए तरसना पड़ रहा है। लोगों की परेशानी सरकार व स्थानीय जनप्रतिनिधि भी नहीं देख रहे हैं। ऐसे में हर कोई सरकार के इस निर्णय को कोस रहा है। सूत्रों के अनुसार पूर्व की कांगे्रस सरकार में रोडवेज की ग्रामीण परिवहन बस सेवा शुरू की गई थी। जिसके तहत बूंदी रोडवेज प्रशासन को 19 बसें दी गई थी। जिन्हें ग्रामीण रूटों पर चलाया गया। ताकि ग्रामीणों को गांवों से मुख्यालय तक आने के लिए परिवहन के साधन आसानी से मिल सके, लेकिन उक्त व्यवस्था सरकार बदलने के साथ ही बंद कर दी गई। अक्टूबर 2017 से ग्रामीण परिवहन बस सेवा बंद है।

नौ बसें तो कर दी ट्रांसफर
सूत्रों के अनुसार रोडवेज प्रशासन को 19 बसें ग्रामीण परिवहन के लिए मिली थी। इसमें से 9 बसें बूंदी रोडवेज प्रशासन ने ब्यावर डिपो को ट्रांसफर कर दी। इसके लिए बूंदी रोडवेज प्रशासन को जयपुर रोडवेज मुख्यालय से आदेश दिए गए थे। वर्तमान में दस बसें हैं, जिन्हें जिले के अन्य इलाकों में चलाया जा रहा है।

तो खत्म कर दिए शिड्यूल
सूत्रों के अनुसार ग्रामीण परिवहन बस सेवा संचालन के लिए सरकार रोडवेज प्रशासन को आर्थिक सहायता दे रही थी, लेकिन सरकार ने आर्थिक सहायता देना बंद कर दिया। ऐसे में मुख्यालय से ग्रामीण परिवहन सेवा बंद करने के आदेश मिलने के साथ ही जिले में परिवहन सेवा बंद कर दी गई। रोडवेज प्रशासन ने ग्रामीण शिड्यूल भी खत्म कर दिए। अब ग्रामीण परिवहन बस सेवा के पूर्व के रूटों पर बसों का संचालन नहीं हो पा रहा है।

ये रूट हुए बंद
खटकड माटूंदा ख्यावदा, नमाना बिजौलिया, बसोली जहाजपुर, ईटूंदा जहाजपुर सहित इनसे जुड़े गांवों के रूट बंद हो गए हैं। इन मार्गों पर ग्रामीणों को रोडवेज की बस मिल जाती थी, लेकिन ग्रामीण सेवा बंद होने से समस्या पैदा हो गई है। ग्रामीणों को परिवहन के साधनों के लिए तरसना पड़ रहा है। हालांकि ग्रामीण परिवहन बंद होने के बाद रोडवेज प्रशासन ने चौतरां का खेड़ा व बूंदी डाबी रूट पर रोडवेज बस चला रखी है।

राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम बूंदी के मुख्य प्रबंधक विक्रम सिंह सोलंकी का कहना है कि मुख्यालय के निर्देश पर ग्रामीण परिवहन सेवा बंद की गई है। वहां के निर्देश मिलने पर ही दुबारा शुरू करेंगे।

Narendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned