बोहरा समाज की अनोखी ईद, गले नहीं मिले, वीडियो कॉलिंग पर दी बधाई

बोहरा समाज की अनोखी ईद, गले नहीं मिले, वीडियो कॉलिंग पर दी बधाई
- घरों पर महकी मिठास

By: ranjeet pardeshi

Published: 23 May 2020, 12:50 PM IST

बोहरा समाज की अनोखी ईद, गले नहीं मिले, वीडियो कॉलिंग पर दी बधाई
- घरों पर महकी मिठास
- दूर से ही सलामती की दुआएं
- कोरोना को हराने के लिए की दुआएं
बुरहानपुर. शनिवार को दाऊदी बोहरा समाज ने ईद का पर्व लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए मनाया। कोरोना वायरस संक्रमण के चलते अपने धर्म गुरू के फरमान का पालन करते हुए अपने अपने घरों में ही नमाज अदा की। पहली बार ऐसा हुआ की किसी से गले भी नहीं मिले, दूर से ही सलामती की दुआएं की। वीडियो कॉलिंग पर एक दूसरे को ईद की बधाई का दौर चला।
ईद की विशेष नमाज अपने घर में पढ़ी एवं धर्म गुरु के लाइव संदेश को मोबाइल के माध्यम से देखा एवं सुना। लोगों को शुभकामनाएं देते हुए बेवजह घर से बाहर नहीं निकलने और पुलिस तथा प्रशासन का सहयोग करने का संदेश भी दिया। बोहरा समाज के तफजुल हुसैन मुलायमवाला ने कहा कि मौला साहब की तरफ से रजा मिली थी कि 5 वक्त की नमाज घर से ही पढ़ी गई। ईद पर भी मजिस्द जाने की मनाही थी और ईद का पर्व घर से ही सादगी पूर्ण तरीके से मनाया गया। ईद पर दुआ की गईं,, जिसमें पहली दुआ पूरी दुनिया में हर इंसान कोरोना बीमारी से हिफाजत में रहे और दूसरी दुआ डाक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टॉफ , पुलिस, नगर पालिका प्रशासन, कर्मचारियों की सेहत के लिए भी दुआ की। उन्होंने अपील की कोरोना वायरस के चलते सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें एवं घर से निकलते समय मास्क जरूर लगाए।

बाजार में नहीं दिखी रंगत
पहली बार ईद का त्यौहार कोरोना के कारण फिका रहा। सभी के मन में उत्साह था, लेकिन बाजार पूरी तरह बंद रहे। बाहर भी ईद की रंगत नजर नहीं आई। समाजजनों ने घर पर रहकर ही ईद का पर्व मनाया। बच्चों से लेकर बड़ों में भी खासा उत्साह देखा गया। शीर खुरमा की महक घर-घर पर रही।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned