व्यापारिक संकट से जूझते कारोबारियों को उबारने में जुटी सरकार

बाजार में जरूरी चीजों की मांग बढ़ाने पर पूरा फोकस।
मई में बेरोजगारी दर 12 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है ।
विश्वास सूचकांक 74.2 अंक आंका गया पहले चरण में।
व्यापार विश्वास सूचकांक 51.5अंक तक गिर गया है ।
बाजार के प्रति विश्वास में 23 अंक की गिरावट आई है ।

By: विकास गुप्ता

Updated: 02 Jun 2021, 01:21 PM IST

नई दिल्ली । फिक्की ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर के कारण व्यापारियों के व्यापार विश्वास में बहुत गिरावट आई है। व्यापारियों और औद्योगिक कंपनियों को लग रहा है कि इस बार कमजोर मांग की स्थिति लंबे समय तक नहीं सुधरेगी और व्यापार में तेजी नहीं आएगी। कोरोना की पहली लहर के बाद लोगों ने अपनी बचत का उपयोग कर लिया था, जिसके कारण बाजार में मांग बढ़ गई थी और अर्थव्यवस्था पटरी पर आ गई थी। वहीं सरकार कारोबारियों की मदद के लिए आगे आ रही है।

कोरोना की इस लहर में लोगों के पास पिछली बचत नहीं है, जिसके कारण लोग खर्च नहीं बढ़ा सकेंगे और बाजार में मांग भी नहीं बढ़ सकेगी। अगर लोगों के हाथ में पैसा पहुंचता रहता तो मांग बढ़ाने में मदद मिल सकती थी, लेकिन 12 फीसदी तक पहुंच चुकी बेरोजगारी दर ने स्थिति को अधिक संकटपूर्ण बना दिया है। देश में व्यापार विश्वास सूचकांक 51.5 अंक तक गिर गया है, जबकि इसके पहले के चरण में यह 74.2 अंक आंका गया था यानी व्यापारियों के बाजार के प्रति विश्वास में 23 अंक की भारी गिरावट आई है।

इस तरह बढ़ाई जा सकती है मांग-
सरकार के सामने दो सबसे महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं, बाजार में मांग कैसे बढ़ाई जाए और देश में बढ़ती बेरोजगारी को कैसे रोका जाए। इसके लिए सरकार के पास भारी योजनाओं में निवेश बढ़ाने का एकमात्र विकल्प मौजूद है। इससे बाजार में मांग व रोजगार का सृजन होगा।

मध्यम उद्योगों की स्थिति ज्यादा नाजुक-
मांग और रोजगार बढ़ाने में मध्यम और सूक्ष्म स्तर के उद्योग प्रमुख माने जाते हैं, लेकिन सरकार की मदद के सारे दावों के बाद भी इस क्षेत्र की स्थिति संकटपूर्ण बनी हुई है। पेट्रोल-डीजल की कीमतें उच्च स्तर तक पहुंचने के कारण माल ढुलाई की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है।

जल्द दिखेगा असर-
कोरोना की पहली लहर में उद्योगों को 21 लाख करोड़ रुपए की आर्थिक मदद दी गई थी। अब मांग बढ़ाने के लिए सरकार कई नई योजनाओं के जरिए निवेश कर रही है।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned