क्या वॉलमार्ट के खरीदने के बाद Flipkart पहले से ज्यादा मजबूत बनकर उभरी है?

HIGHLIGHTS

  • भारत में वॉलमार्ट इंडिया ( Walmart India ) के 28 बेस्ट प्राइस स्टोर्स हैं और इसके दो फुलफिलमेंट सेंटर्स हैं। इसके अलावा वहीं वॉलमार्ट इंडिया के करीब 3,500 अन्य कर्मचारी फ्लिपकार्ट में शामिल होंगे।
  • इससे पहले फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए वॉलमार्ट ने 2018 में 16 अरब डॉलर का निवेश किया था।

By: Anil Kumar

Updated: 03 Sep 2020, 08:03 PM IST

नई दिल्ली। दिग्ग्ज ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ( Flipkart ) ने जुलाई में वॉलमार्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ( Walmart India Pvt Ltd ) में 100 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी थी। उसके बाद अगस्त से फ्लिपकार्ट ने किराना और फैशन सेगमेंट में होलसेल बिजनेस शुरू कर दिया है।

होलसेल के तौर पर फ्लिपकार्ट ने पहली बार ये बिजनेस शुरू किया है। ऐसे में ये जानना सबसे जरूरी है कि क्या वॉलमार्ट को खरीदने के बाद फ्लिपकार्ट पहसे से ज्यादा मजबूत हुआ है या नहीं?

अब Flipkart से सामान मंगाने पर कैंसलेशन नहीं होगा आसान, कंपनी लाई नया विकल्प

दरअसल, फ्लिपकार्ट अभी तक रिटेल मार्केिंट के तौर पर ही अपना बिजनेस करता रहा है। अब फ्लिपकार्ट ने जब वॉलमार्ट के 100 फीसदी हिस्सेदारी को खरीद लिया है तो वॉलमार्ट के बिजनेस-टू-बिजनेस सेगमेंट के इस रिवर्स अधिग्रहण से फ्लिपकार्ट को फूड और ग्रॉसरी सेगमेंट में अपनी पहचान को और भी विस्तार करने का मौका मिला है। इसके अलावा कंपनी को अपनी सप्लाई चेन भी मजबूत करने में मदद मिलेगी।

बता दें कि भारत में वॉलमार्ट इंडिया के 28 बेस्ट प्राइस स्टोर्स हैं और इसके दो फुलफिलमेंट सेंटर्स हैं। इसके अलावा वहीं वॉलमार्ट इंडिया के करीब 3,500 अन्य कर्मचारी फ्लिपकार्ट में शामिल होंगे। लिहाजा, वॉलमार्ट को खरीदने के बाद फ्लिपकार्ट पहले की तुलना में ज्यादा मजबूत होता हुआ दिखाई दे रहा है। इससे पहले फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए वॉलमार्ट ने 2018 में 16 अरब डॉलर का निवेश किया था।

छोटे किराना स्टोर सीधे फ्लिपकार्ट से जुड़ेंगे

कंपनी के एक बयान के अनुसार, वॉलमार्ट इंडिया टीम के मर्चेंडाइजिंग एक्सपीरियंस और बेस्ट प्राइस स्टोर्स को चलाने का 12 साल का अनुभव है, जो कि हमारे लिए बहुत ही कारगर होगा। मौजूदा समय में बेस्ट प्राइस 15 लाख से अधिक सदस्यों को सर्विस देता है। इसमें किराना, हॉरेका और दूसरे MSMEs शामिल हैं।

अब कंपनी तकनीक का लाभ उठाकर किराना और MSMEs की ग्रोथ में मदद करके देश में किराना रिटेल ईकोसिस्टम को बदलने में सक्षम होगा। फ्लिपकार्ट का नया बिजनेस-2-बिजनेस या होलसेल ऑनलाइन बिजनेस काफी हद तक असंगठित किराना सेगमेंट की भरपाई को पूरा कर सकता है और छोटी दुकानें सीधे इस प्लेटफॉर्म के जरिए अपना सामान मंगवा सकती हैं।

E-Commerce Policy में होगा बदलाव, ऑनलाइन साइट्स को बताना होगा प्रोडक्ट Made in India है या नहीं

अब फ्लिपकार्ट होलसेल का लक्ष्य है कि वह 20 और शहरों में अपनी सेवाएं शुरू करे और सामानों की कैटेगरी में घर और किचन के अप्लाएंस और ग्रॉसरी आदि का सामान भी साल के अंत तक रखना शुरू कर दे। आने वाले दिनों में कंपनी 50 ब्रांड और 250 से अधिक लोकल मैन्युफैक्चरर्स को अपने प्लेटफॉर्म से जोड़ने की योजना बना रहा है।

इसके अलावा कंपनी की यह भी योजना है कि वह 2 महीनों में करीब 300 स्ट्रैटिजिक पार्टनर को खुद से जोड़ें और 2 लाख से भी अधिक की लिस्टिंग कर ले।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned