सबसे सस्ता स्मार्टफोन लाएगी जियो, ग्रीन एनर्जी पर भी लगाया बड़ा दांव

- सऊदी अरामको के साथ डील पक्की, विस्तार की तैयारी ।
- 5.40 लाख करोड़ की कुल आय रही कंपनी की।
- 53 हजार करोड़ से ज्यादा का मुनाफा कमाया ।

By: विकास गुप्ता

Published: 25 Jun 2021, 11:22 AM IST

मुंबई । देश में 5जी मोबाइल सेवा शुरू करने की तैयारी में जुटी रिलायंस इंडस्ट्रीज गणेश चतुर्थी पर (10 सितंबर) दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन (4जी) लॉन्च करेगी। रिलायंस जियो और गूगल की ओर से विकसित सस्ते एंड्रॉयड फोन में महंगे मोबाइल जैसी कई खूबियां होंगी। रिलायंस इंडस्ट्रीज शेयरधारकों की 44वीं सालाना बैठक को संबोधित करते हुए कंपनी के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने गुरुवार को यह घोषणा की।

सऊदी अरब की सऊदी अरामको के साथ रिलायंस की डील पक्की हो गई है। करार के तहत अरामको रिलायंस में 1500 करोड़ डॉलर निवेश करेगी। अरामको के चेयरमैन यासिर अल रुमायन रिलायंस के स्वतंत्र निदेशक बनाए गए हैं। अंबानी ने बताया कि कंपनी अब ग्रीन और क्लीन एनर्जी क्षेत्र में अगले तीन साल में 60 हजार करोड़ रुपए का निवेश करेगी। वैल्यू चेन के विस्तार और नई तकनीक के विकास पर 15 हजार करोड़ खर्च होंगे। उन्होंने कहा कि 2जी मुक्त 5जी युक्त भारत बनाने की दिशा में रिलायंस काम कर रही है।

महंगे फोन जैसी होंगी कई खूबियां -
अंबानी ने बताया कि 10 सितंबर को रिलायंस जियो एंड्रॉयड आधारित किफायती 4जी जियोफोन नेक्स्ट पेश करेगी। इसे गूगल और जियो ने डवलप किया है। यह ट्रांसलेशन फीचर के साथ अच्छे कैमरे से लैस होगा। इसमें ऐसी कई खूबियां होंगी, जो महंगे फोन में मिलती हैं।

5जी का परीक्षण-
अंबानी ने बताया कि रिलायंस भारत को 5जी युक्त बनाने में मदद कर रही है। जियो ने हाल ही में मुंबई में 5जी की फील्ड टेस्टिंग की है। स्वदेशी तकनीक का इस्तेमाल करते हुए जियो ने 1 जीबीपीएस स्पीड हासिल की है। जल्द ही अन्य शहरों में भी परीक्षण शुरू करेगी। उपकरण बनाने के लिए वैश्विक साझेदारी की है।

संकट में सेवा -
रिलायंस के परोपकारी संगठन रिलायंस फाउंडेशन की प्रमुख नीता अंबानी ने बताया कि कंपनी सबसे ज्यादा मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन बना रही है। देश में इसकी सप्लाई मुफ्त की जा रही है। ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए 100 टैंकर खरीदे गए हैं। कंपनी ने 116 वैक्सीनेशन सेंटर खोले हैं। मृत कर्मचारियों के परिवार को संबल देंगे।

ग्रीन और क्लीन एनर्जी पर रहेगा पूरा जोर-
रिलायंस अब ग्रीन और क्लीन एनर्जी पर जोर देगी। इसके लिए कंपनी तीन साल में 60 हजार करोड़ रुपए निवेश करेगी। साल 2030 तक 100 गीगावाट सौर बिजली पैदा करेंगे। जामनगर में धीरूभाई ग्रीन एनर्जी कॉम्प्लेक्स बनाया जा रहा है। इसकी उत्पादन क्षमता पांच हजार गीगावाट होगी। सोलर बिजली प्लांट के अलावा बैटरी और फ्यूल सेल फैक्ट्री लगेगी। ग्रीन हाइड्रोजन बनाने के लिए इलेक्ट्रोलाइजर कारखाने में बनाएगी।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned