प्रधानमंत्री किसानों के मुद्दे को तो मुख्यमंत्री सरकारी कर्मचारियों के मुद्दे को कर रहे अनदेखा: स्टालिन

डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने आरोप लगाया कि जिस प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों के मुद्दे को लेकर किसी प्रकार का कदम नहीं उठा रहे हैं

By: Vishal Kesharwani

Published: 29 Jan 2021, 12:29 PM IST


चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने आरोप लगाया कि जिस प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों के मुद्दे को लेकर किसी प्रकार का कदम नहीं उठा रहे हैं उसी प्रकार मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी सरकारी कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर आंख बंद किए हुए हैं। राज्य के सरकारी कर्मचारी संघ द्वारा आयोजित एक बैठक, जिसमें राज्यस्तरीय प्रदर्शन को लेकर चर्चा की गई, में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए स्टालिन ने कहा आगामी विधानसभा चुनाव में डीएमके की सत्ता आने पर सभी उचित मांगों को पूरा किया जाएगा।

 

संघ में राजस्व, ग्रामीण विकास, शिक्षा और स्वास्थ्य समेत अन्य विभाग के कर्मचारी शामिल हैं। कर्मचारियों द्वारा पुरानी पेंशन योजना को फिर से शुरू करने, जेक्टो जीओ के खिलाफ लगे आरोपों को वापस लेने और देय राशि का भुगतान करने समेत अन्य मांग की जा रही है। डीएमके शासन के दौरान राज्य के पूर्व मुख्यमंंत्री स्वर्गीय एम. करुणानिधि के नेतृत्व में सरकारी कर्मचारियों के पक्ष में लाए गए विभिन्न सुधारों की सूची जारी करते हुए स्टालिन ने कहा राज्य सरकार ने शिक्षक समेत अन्य सभी सरकारी कर्मचारियों के अधिकारों को छीन लिया है।

 

उन्होंने कहा कोरोना महामारी के दौरान राज्य भर के 13 लाख सरकारी कर्मचारियों ने अपने एक दिन के वेतन के माध्यम से मुख्यमंत्री कोरोना राहत कोष में करीब 150 करोड़ की सहायता प्रदान की थी। मुसिबत के दौरान सरकार का सहयोग करने वाले लोगों के साथ सरकार का यह व्यवहार होना चाहिए क्या?

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned