पांचवें दौर की खुदाई हुई शुरू

पांचवें दौर की खुदाई हुई शुरू

shivali agrawal | Updated: 14 Jun 2019, 03:02:56 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

- कीळडी पुरातत्व स्थल

चेन्नई. शिवगंगा जिले के पुरातत्व महत्व के स्थल कीळड़ी में पांचवें चरण की खुदाई का कार्य गुरुवार को तमिल संस्कृति मंत्री मा. फोई पांडियराजन की मौजूदगी में शुरू हुआ।
खुदाई के लिए भूमि पूजन हुआ। इस पूजन में शामिल मंत्री ने कहा कि पांचवें चरण की इस खुदाई के लिए राज्य सरकार ने १ करोड़ रुपए आवंटित किए है। तमिलनाडु के पुरातत्व विभाग ने अब तक की खुदाई में ५८२० वस्तुएं खोज निकाली हैं।
पांडियराजन ने कहा कि पांचवें चरण की खुदाई चार महीने में पूरी होगी। आने वाले समय में तेनी, तिरुवण्णामलै, कीळडी, आदिचनल्लूर समेत छह जगहों में पुरातत्व प्रदर्शनी आयोजित की जाएगी। छह महीने में कीळड़ी में पुरातत्व संग्रहालय भी स्थापित होगा।
मंत्री ने बताया कि २०१४ में वैगई नदी घटी सभ्यता का अध्ययन करने के लिए केंद्र सरकार ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग को अनुमति दी थी। इसके बाद बेंगलूरु पुरातत्व विभाग के तत्कालीन अधीक्षक के. अमरनाथ रामकृष्णन की अध्यक्षता में एक टीम ने वैगई नदी के छोर वर्षनाड़ से रामनाथपुरम के अळगनकुलम तक दोनों तटों पर बसे २९३ गांवों का अवलोकन किया था। इस सर्वे में सौ से अधिक गांवों में पुराने जमाने के लोगों द्वारा प्रयुक्त पाषाण पात्र, मंदिर और पांड्याशासकों के शिलालेख मिले।
पांडियराजन ने कहा कि इसके बाद मार्च २०१५ में कीळडी के पाठशाला बाजार के मैदान में पहले चरण की खुदाई हुई। अधीक्षक के. अमरनाथ की अगुवाई में २०१५ व २०१६ में हुई खुदाई में २ हजार साल पुरानी सभ्यता का उद्घाटन हुआ। इनमें पत्थर के बर्तन, छप्परे, मिट्टी के पात्र, कलश, जलमार्ग समेत अतिप्राचीन वस्तुएं मिलीं। इसके बाद तीसरे और चौथे चरण की भी खुदाई हुई और पुरात्व अवशेष व वस्तुएं मिलीं।
---------------

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned