तमिलनाडु: नीट परीक्षा में खराब प्रदर्शन के डर से लडक़ी ने की आत्महत्या, दो दिन में दूसरा मामला

रविवार को नीट परीक्षा से कुछ घंटे पहले आत्महत्या करने वाले 19 वर्षीय छात्र धनुष के बाद तमिलनाडु में आत्महत्या का यह दूसरा मामला है।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 14 Sep 2021, 04:26 PM IST

अरियालूर.

तमिलनाडु विधानसभा में सोमवार को नया विधेयक पारित होने और इसके कानून बनने के बाद राज्य में नीट परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी। अब कक्षा 12वीं के अंकों के आधार पर ही एमबीबीएस और बीडीएस पाठ्यक्रमों में प्रवेश को सक्षम बनाएगा। लेकिन इस बीच एक दुखद खबर तमिलनाडु के अरियालूर जिले से आ रही है।

तमिलनाडु प्लस टू की परीक्षा में 600 में से 562 अंक हासिल करने वाली एक छात्रा कनिमोझी ने अरियालूर जिले के संतमपडी गांव में कथित तौर पर इस डर से आत्महत्या कर ली कि वह राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) में वो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाएगी। उसने सोमवार शाम को यह कठोर कदम उठाया।

वकील दंपति करुणानिधि और विजयलक्ष्मी की बेटी कनिमोझी ने कथित तौर पर अपने माता-पिता से कहा था कि वह नीट में अपने प्रदर्शन से नाखुश हैं।

अरियालूर पुलिस अधीक्षक के कार्यालय ने के अनुसार लडक़ी ने सोमवार शाम को यह कठोर कदम तब उठाया, जब माता-पिता एक शादी समारोह में गए थे। पुलिस ने कहा कि माता-पिता दोनों ने उसे पूरा समर्थन दिया था लेकिन पिछले कुछ दिनों से वह प्रवेश परीक्षा में प्रदर्शन से नाखुश थी। मामले में धारा 174 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

रविवार को नीट परीक्षा से कुछ घंटे पहले आत्महत्या करने वाले 19 वर्षीय छात्र धनुष के बाद तमिलनाडु में आत्महत्या का यह दूसरा मामला है। पिछले कुछ वर्षों में नीट परीक्षा के कारण अरियालूर जिले में यह तीसरी मौत है, इससे पहले 2017 में अनीता और 2020 में विग्नेश की मृत्यु हुई थी।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned