बैलेंस क्रेडिट होने का मेसेज भेज साइबर अपराधी खाली कर रहे खाता

- चेन्नई पुलिस लोगों को कर रही जागरूक

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 29 Dec 2020, 06:15 PM IST

चेन्नई.

साइबर क्राइम से संबंधित आम लोगों को जागरूक करने के लिए चेन्नई पुलिस ने आगाह किया है। चूंकि, मौजूदा परिस्थितियों में लोगों ने शोंपिग व पेमेंट करने के लिए ऑनलाइन ट्रांजक्शन को तेजी से अपनाया है। जैसे जैसे लोग नई तकनीक की तरफ बढ़ रहे है, उतनी ही तेजी से साइबर जालसाज लोगों को साइबर ठगी का शिकार बना रहे है।

चेन्नई पुलिस द्वारा इन दिनों लोगों को साइबर क्राइम से बचाने के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से ठगी को लेकर आगाह किया जा रहा है। दरअसल, पिछले कुछ दिनों में साइबर अपराधी ठगी करने का नायाब तरीका ढुंढ लिया है, वे लोगों को उनके बैंक के खाते में पैसे ट्रांसफर करने का फर्जी मैसेज भेजते है और फिर उनसे संपर्क कर गलती से ट्रांसफर होने की बात कर पैसे वापस मांग लेते है। ये अपराधी लोगों को अपनी बातों में उलझा देते है और उनसे पैसे मांग लेते है।

पीडि़त अपने बैंक खाते का बैलेंस चेक किए बगैर ही अपराधियों को उनके खाते में पैसे ट्रांसफर कर देते है जिससे उन्हें बाद में पता चलता है, कि वे धोखाधडी के शिकार हो गए। ये गिरोह महिलाओं और बुजुर्गो को निशाना बनाते है क्योंकि मैसेजे देखने के बाद अधिकांश मामलों में महिलाएं और बुजुर्ग बैंक खाता का बैलेंस चेक नहीं करते है। अपराधी इसी का फायदा उठाकर लोगों से ठगी करते है।

पुलिस की ओर से लोगों से ठगी के बारे में जानकारी साझा की। ताजा मामले के अनुसार साइबर अपराधी ने एक महिला को 13500 रुपए ट्रांसफर करने का मैसेज भेजा और उससे संपर्क कर कहा कि वह अपनी मां को ट्रांसफर कर रहा था, गलती से उन्हें ट्रांसफर हो गया। महिला अपने बैंक खाता का बैलेंस चेक किए बिना उसके खाते में 10 हजार रुपए ट्रांसफर कर देती है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned