पिता-पुत्र की संदिग्ध मौत के मामले में लिप्त आरोपियों के खिलाफ दर्ज हो हत्या का मामला: अलगिरी

अलगिरी ने सोमवार को कहा कि पुलिस कस्टडी में पिता-पुत्र की हुई संदिग्ध मौत मामले में लिप्त पांच पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जांच के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया जाना चाहिए।

By: Vishal Kesharwani

Published: 29 Jun 2020, 04:38 PM IST


-जांच के लिए गठित हो एसआईटी
चेन्नई. तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष केएस अलगिरी ने सोमवार को कहा कि तुत्तुकुड़ी जिले के सातानकुलम में पुलिस कस्टडी में पिता-पुत्र की हुई संदिग्ध मौत मामले में लिप्त पांच पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जांच के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया जाना चाहिए। यहां जारी एक विज्ञप्ति में उन्होंने कहा घटना मेंं शामिल लोगों के खिलाफ अगर मामले दर्ज होते हैं तो सीबीआई द्वारा जांच के बाद भी पीडि़त परिजनों को न्याय मिल सकता है। पुलिसकर्मी, मजिस्टे्रट, जिसने न्यायिक हिरासत में भेजा था, मेडिकल अधिकारी, जिन्हें सही से पिता पुत्र के स्वास्थ्य और शरीरिक फिटनेस को देखना चाहिए था, सामूहिक रूप से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में विफल होकर सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया।

 

उन्होंने कहा कि हमें तुत्तुकुड़ी स्टरलाइन प्लांट के खिलाफ जारी हिंसा मेंं मारे गए 13 प्रदर्शनकारियों के मामले की तरह कस्टडी में हुई पिता पुत्र के मामले को भी आंख में धूल झोंक कर खत्म किए जाने का डर है। प्लांट मामले में पिछले दो साल के अंदर एक भी आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है। आरोपियों को बचाने के लिए सीबीआई जांच भी बहुत ही धीमी गति से हो रही है। ऐसी परिस्थिति में मामले की जांच के लिए सीआईटी का गठन किया जाना चाहिए। अलगिरी ने मामले में लिप्त कुछ आरोपियों को बचाने की कोशिश करने को लेकर सरकार की निंदा भी की। उल्लेखनीय है कि तुत्तुकुड़ी में अपने मोबाइल फोन की दुकान को अनुमति के घंटों से अतिरिक्त खुला रखने के कारण सांताकुलम ने पुलिस पिता-पुत्र को गिरफ्तार किया था और उनकी हिरासत में ही मौत हो गई थी। पीडि़त परिजनों ने जेल के अंदर पुलिस अत्याचार का आरोप लगाया था। मामले का राज्य भर में विरोध किया जा रहा है। वहीं रविवार को मुख्यमंत्री एडपाडी के पलनीस्वामी ने कहा था कि कोर्ट की अनुमति मिलने के बाद मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी जाएगी।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned