गुरु देवो भव कार्यक्रम में 400 से अधिक शिक्षकों का सम्मान

गुरु देवो भव कार्यक्रम में 400 से अधिक शिक्षकों का सम्मान

Mukesh Sharma | Publish: Sep, 16 2018 10:08:07 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

राजस्थान कॉस्मो क्लब फाउंडेशन की ओर से गुरु देवो भव कार्यक्रम के तहत 57 स्कूलों के 400 शिक्षकों का सम्मान किया गया। अग्रवाल...

चेन्नई।राजस्थान कॉस्मो क्लब फाउंडेशन की ओर से गुरु देवो भव कार्यक्रम के तहत 57 स्कूलों के 400 शिक्षकों का सम्मान किया गया। अग्रवाल विद्यालय में आयोजित इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि मुख्य शिक्षा अधिकारी आर.तिरुवलर सेल्वी ने किया।

आयकर के संयुक्त आयुक्त वी.नंदकुमार तथा सुकी शिवम ने प्रेरक उद्बोधन दिया। फाउंडेशन के अध्यक्ष संजय भंसाली ने बताया कि संस्था के रजत जयंती के उपलक्ष्य पर चेन्नई के आस पास सरकार के गो ग्रीन पहल को बढ़ावा देने के तहत 25,000 पौधरोपण किया जाएगा। रविवार को पौधरोपण योजना के तहत 1000 पौधे दिए गए।

प्रबंध न्यासी श्रीपाल कोठारी ने बताया कि फाउंडेशन प्रतिवर्ष 20,000 नए स्कूल यूनिफाम्र्स तथा समाज में 15,000 नए कपड़ों का वितरण करता है।

इसका वितरण क्लोथ बैंक योजना के तहत किया जाता है। गुरु देवो भव कार्यक्रम के तहत सभी शिक्षकों को मोमेंट प्रदान किया गया। साथ ही बेहतर भविष्य के लिए किए जा रहे उनके कार्यों की सराहना की गई।
न्यू क्लोथ चेयरमैन आनंद जैन ने कहा कि शिक्षा दुनिया को बदलने का सबसे शक्तिशाली हथियार है, जिसके रचनाकार शिक्षक हैं। दिलीप गादिया ने जरूरतमंदों के लिए चलाई जा रही गजभर कपड़ा योजना की जानकारी दी।

न्यू स्कूल यूनिफार्म योजना के चेयरमैन अश्विन ने कहा कि आने वाले दिनों में 5,000 यूनिफार्म वितरित किए जाएंगे। फाउंडेशन के सचिव विजय कांकरिया ने कपड़े के बैग को बढ़ावा देेने के लिए मेगा प्रोजेक्ट क्लोथ बैग योजना की जानकारी दी।


सामूहिक बीस स्थानक तप अनुष्ठान

श्री जैन संघ ट्रस्ट मईलापुर के तत्वावधान में रविवार को कच्चेरी रोड स्थित आराधना भवन में सामूहिक बीस स्थानक तप अनुष्ठान का आयोजन किया गया। आचार्यगण विजय कलापूर्णसूरीश्वर व तीर्थभद्रसूरीश्वर एवं तीर्थसुंदर विजय, तीर्थ कल्याण विजय व तीर्थगेष विजय के सान्निध्य में आयोजित इस तप अनुष्ठान में करीब ४०० से भी अधिक श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया। सभी श्रद्धालओं को बीस स्थानक की क्रिया करवाई गई। इस मौके पर बी स्थानक की आकर्षक रचना भी की गई। भक्तिगान का आयोजन भी हुआ।

Ad Block is Banned