राज्य सरकार की सख्ती से निंदा

हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से मांगा
जल संकट से निपटने को किए जा रहे प्रयासों का विवरण

By: shivali agrawal

Published: 14 Jun 2019, 02:19 PM IST

तमिलनाडु की जनता द्वारा भोगे जा रहे पानी के संकट को मद्देनजर रखते हुए मद्रास हाईकोर्ट ने गुरुवार को राज्य सरकार की सख्ती से निंदा करते हुए संकट निवारण के लिए उठाए गए कदमों की विस्तृत जानकारी देने का निर्देश दिया। न्यायाधीश एस. मणिकुमार और सुब्रमण्यम प्रसाद की खंडपीठ ने अतिरिक्त सरकारी याचिकाकर्ता ई. मनोहरन को १७ जून तक रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया। साथ ही कोर्ट ने सरकार से ईस्ट कोस्ट रोड समेत अन्य जगहों पर प्रस्तावित विलवणीकरण संयंत्र लगाने वाली योजना के बारे में भी सवाल किया। कोर्ट ने यह विवरण राज्यभर में जारी जल संकट को देखते हुए मांगा है।
कोर्ट का कहना था कि वाटर लॉरी के आते ही सैकड़ों लोग लाइन में लगकर अपनी बारी का इंतजार करने लगते हैं, लेकिन उनमें से बहुत से लोग पानी से वंचित रह जाते हैं। बहुत सी आईटी कंपनियों ने पानी की समस्या की वजह से अपने कर्मचारियों को घर से ही काम करने का निर्देश दे दिया है।
----------

shivali agrawal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned