आने वाले वक्त में प्रवासियों की ताकत और बढ़ेगी, भाजपा नेता राज.के. पुरोहित की राजस्थान पत्रिका के साथ विशेष बातचीत

सभी समाजों को मिलाकर एक ताकतवर देशभक्त ग्रुप तैयार करना है। आने वाले समय में राजस्थानी मूवमेन्ट को ताकतवर बनाउंगा।

 

By: Ashok Rajpurohit

Updated: 06 Apr 2021, 12:04 AM IST

चेन्नई. राजस्थान के सिरोही जिले के एक छोटे से गांव फूंगणी से मुम्बई सरीखी आर्थिक राजधानी में राजनीति में झंडे गाड़ने वाले राज.के.पुरोहित किसी परिचय के मोहताज नहीं है। छह बार विधायक चुने गए। चार बार महाराष्ट्र के मुम्बादेवी तथा दो बार कोलबा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर चुने गए। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे। अपनी हाजिर जवाबी एवं स्पष्टवादिता के लिए मशहूर राज.के. पुरोहित तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवारों के लिए प्रचार करने के लिए आए थे। राजस्थान पत्रिका ने उनसे खास बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंशः
सवालः राजस्थानी प्रवासी समाज आज राजनीति मे कितना आगे बढ़ा है?
जवाबः प्रवासी समाज की ताकत पहले की तुलना में बढ़ी है। राजस्थानी प्रवासी समाज न केवल आर्थिक रूप से समृद्ध हुआ है बल्कि अब राजनीतिक रूप से भी आगे बढ़ रहा है। राजस्थानी प्रवासी स्थानीय लोगों का दिल जीतने में सफल रहे है। इसका ताजा उदाहरण गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव में देखने को मिला है। जिस तरह गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव में राजस्थानी प्रवासी समाज के लोग चुनकर आए है, उससे अब अन्य प्रदेशों में भी आस जगी है। अब राजस्थानी प्रवासी समाज राजनैतिक रूप से बहुत मजबूत हुआ है। अब राजस्थानी समाज को और ताकतवर बनाया जाएगा और इसके लिए प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। हमारे अनुपात के अनुसार कभी हमें न सम्मान मिली न इज्जत मिली और न प्रतिनिधित्व। हमारा यही प्रयास है कि लोकसभा, विधानसभा व स्थानीय निकाय में राजस्थानी समाज का प्रतिनिधित्व बढ़े। पश्चिम बंगाल में राजस्थान मूल के तीन लोगों को इस बार टिकट मिला है।
सवालः राजस्थानी संस्थाओं का प्रवासियों के विकास में कितना योगदान रहा है?
जवाबः राजस्थानी समाज की कई संस्थाएं काम कर रही है। इनमें अखिल भारतीय राजस्थानी मारवाड़ी सम्मेलन सबसे पुरानी संस्थाओं में से एक हैं। कई राजस्थानी संस्थाएं हुई है लेकिन इतना पुराना इतिहास किसी संस्था का नहीं है। घनश्याम दास बिड़ला ने इसे रजिस्टर करवाया था। आजादी के मूवमेन्ट के समय इस संस्थान का योगदान सराहनीय रहा था। इस संस्था ने प्रवासी समाज को ताकत दी है। आने वाले समय में इस संस्थान के माध्यम से राजस्थानी प्रवासियों की ताकत को और मजबूत बनाया जाएगा। राजस्थानी प्रवासियों की आर्थिक ताकत बढ़ी है। चुनाव के साथ ही राजस्थानी समाज को संगठित करने का काम किया। सभी समाजों को मिलाकर एक ताकतवर देशभक्त ग्रुप तैयार करना है। आने वाले समय में राजस्थानी मूवमेन्ट को ताकतवर बनाउंगा।
सवालः भाजपा की नीतियां कितनी कारगर है?
जवाबः लोग आज भाजपा की नीतियों से खुश है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के प्रयासों एवं मेहनत से राष्ट्रीय़ मुख्य धारा में जोड़ने का काम किया है। उनके काम करने का तरीका देश हित में है। पश्चिम बंगाल में केन्द्र सरकार की योजनाओं को गरीबों तक नहीं पहुंचने दिया गया। यह तो गरीबों का नुकसान है। बंगाल में हवा बदलेगी। मेहनत रंग लाएगी। आसाम में ध्रुवीकरण बहुत जबरदस्त हुआ है बावजूद इसके भाजपा को बढ़त मिलेगी।
सवालः तमिलनाडु में भाजपा मजबूत नहीं हो पा रही है। इसका क्या कारण मानते हैं?
जवाबः तमिलनाडु में भाजपा का जनाधार बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की स्वीकार्यता में इजाफा हुआ है। तमिलनाडु के हार्बर विधानसभा क्षेत्र में अमित शाह के आने के बाद से भाजपा उम्मीदवार की जीत की संभावना बढ़ी है। इतना जोश राजस्थानी समुदाय में इस बार कहीं देखने को नहीं मिला है जितना यहां देखने को मिला।
सवालः राजस्थान के मनोहर राजपुरोहित अपहरण प्रकरण मामले में आपने जोर-शोर से आवाज उठाई। सीबीआई जांच कब तक शुरु होने की उम्मीद कर रहे हैं?
जवाबः पाली जिले के नेतड़ा में मनोहर राजपुरोहित अपरहण प्रकरण मामले में जब बताया गया कि इसमें कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। तो इस मामले को तेज किया गया। इस प्रकरण को लेकर राजस्थान में धरना दिया गया। बाद में राजस्थान सरकार ने केन्द्र से इस प्रकरण की सीबीआई जांच की सिफारिश के लिए कहा है। गृह मंत्री अमित शाह को इस मामले से अवगत करवा दिया है। हमारी मांग को मान लिया गया है। जल्द ही सीबीआई से जांच शुरू होगी और न्याय मिल सकेगा।

Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned