Madurai जिले के टी. कुणातूर में MGR-Jayalalithaa का मंदिर खुला


ख्यमंत्री ईके पलनीस्वामी EPSऔर उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम OPS ने शनिवार को उद्घाटन किया

By: P S Kumar

Published: 30 Jan 2021, 05:28 PM IST

चेन्नई. एआईएडीएमके संस्थापक व दिग्गज नेता एम. जी. रामचंद्रन तथा उनकी राजनीतिक वारिस रहीं स्वर्गीय जे. जयललिता का मदुरै जिले के तिरुमंगलम तहसील के टी. कुणातूर में नया मंदिर बनाया गया है। इस मंदिर का मुख्यमंत्री ईके पलनीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने शनिवार को उद्घाटन किया। तमिलनाडु के राजस्व मंत्री आरबी उदयकुमार ने पार्टी के अम्मा पेरवै की ओर से इसका निर्माण कराया है।


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री ने डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन की आलोचना की कि कुछ लोग लगातार देवी-देवताओं की निन्दा करते रहते हैं लेकिन चुनाव के वक्त उनको भगवान का स्मरण हो आता है।


ओपीएस ने तंज कसा कि डीएमके ने उत्तर भारत से लोगों की तैनाती की है ताकि विधानसभा चुनाव जीतने के उपाय कर सकें। अब जब कोई चारा नहीं बचा तो उनको हाथ में वेल उठाना पड़ रहा है। लेकिन यह तय है कि वे सत्ता में वापसी नहीं कर सकते। स्टालिन नित नए अवतार ले रहे हैं लेकिन राज्य की अवाम उन पर विश्वास करने को तैयार नहीं है। जयललिता ने जो भी जनहितकारी योजनाएं शुरू की थी उसका फायदा लोगों को मिल रहा है। डीएमके दस सालों से सत्ता से महरूम है। अगर वह शासन करती है तो स्वहित में ही मशगूल रहेगी।


मुख्यमंत्री पलनीस्वामी ने कहा कि एमजीआर और जयललिता ने ताजीवन राज्य की जनता के भले के लिए समर्पित होकर कार्य किया। उनके सेवा कार्य अविस्मरणीय हैं। इन नेताओं के मंदिर निर्माण के लिए उन्होंने मंत्री आरबी उदयकुमार को धन्यवाद दिया। सीएम ने दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा किए गए कार्यों व उपलब्धियां का विस्तार से उल्लेख किया। उनका दावा था कि सीमांत व हाशिये पर बसे लोगों के उत्थान में कोई सरकार कार्यरत है तो वह एआईएडीएमके सरकार है। हम विश्वास दिलाते हैं कि २०२१ में भी उनकी पार्टी की ही सरकार सत्ता पर काबिज होगी।

P S Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned