scriptThief returns medal asks apology | ये चोर तो मेहनत के कायल निकले | Patrika News

ये चोर तो मेहनत के कायल निकले

locationचेन्नईPublished: Feb 13, 2024 05:51:49 pm

Submitted by:

P S VIJAY RAGHAVAN

चोरों ने लौटाया राष्ट्रीय पुरस्कार पदक, माफी भी मांगी
फिल्मकार मणिकंठन के बंद घर से चोरी, पदक लौटाने के साथ माफी का नोट छोड़ा

ये चोर तो मेहनत के कायल निकले
ये चोर तो मेहनत के कायल निकले
मदुरै. कड़ैसी विवसायी फेम फिल्म निर्देशक मणिकंठन के घर हाथ साफ करने वाले चोरों के मन में अचानक इंसानियत जागी और वे उनका राष्ट्रीय पुरस्कार पदक सोमवार रात लौटा गए और साथ ही यह कहते हुए माफी मांगी कि यह आपकी मेहनत है, और आपके लिए ही है। मामला जिले के उसलमपट्टी का है।
फिल्मकार के घर हुई चोरी की पड़ताल कर रही उसलमपट्टी पुलिस ने बताया कि 'काका मुट्टै', 'कुट्रमे दंडणै', 'आंडवण कट्टलै' जैसी फिल्मों का निर्देशन कर पहचान बनाने वाले मणिकंठन चेन्नई में रहते हैं। थाना क्षेत्र के एझिल नगर में उनका एक घर है जिसकी देखभाल उनके कर्मचारी करते हैं।घर का केयर टेकर 8 फरवरी को कुत्ते को बाहर घुमाने ले गया और वापसी पर देखा कि दरवाजा टूटा है। उन्होंने तत्काल मणिकंठन को अलर्ट किया कि उनके घर चोरी हुई है। पुलिस ने मौका मुआयना किया और मामला दर्ज किया। जांच के बाद ही मणिकंठन को इस बात का अहसास हुआ कि चोरी गए माल में उनका राष्ट्रीय पदक भी चला गया है।
मणिकंठन की बयानी के बाद पुलिस ने बताया कि उनके घर से पांच सोने के गहने और एक लाख रुपए की नकदी चोरी हुई है। इस बीच उनके पदक की चोरी की खबरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं। संभवत: चोरों की नजर भी इस समाचार पर पड़ी। इसके बाद, उन्होंने चुराया पदक एक बैग में रखकर मणिकंठन के घर के प्रवेश द्वार पर रख दिया। लौटाए गए पदक के साथ एक तमिल माफी नोट भी था, जिसमें लिखा था, "क्षमा करें, आपका परिश्रम आपके लिए है।" पदक तो वापस मिल गया लेकिन पुलिस को चोरों की तलाश है, जिनके पास सोने के गहने और नकदी है।

ट्रेंडिंग वीडियो