कार्पोरेट कंपनियों के प्लास्टिक उत्पादों पर क्यों नहीं लगा प्रतिबंध?

कार्पोरेट कंपनियों के प्लास्टिक उत्पादों पर क्यों नहीं लगा प्रतिबंध?

Ritesh Ranjan | Updated: 17 Dec 2018, 01:35:30 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

भाकपा का सीएम से प्रश्न

चेन्नई. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने मुख्यमंत्री ईके पलनीस्वामी से प्रश्न किया है कि कार्पोरेट कंपनियों के प्लास्टिक उत्पादों पर क्यों प्रतिबंध नहीं लगाया गया है?
प्रदेश सचिव आर. मुत्तअरसन ने रविवार को वक्तव्य जारी किया कि सरकार ने एक जनवरी से प्लास्टिक पर पाबंदी लगाई है। यह प्रतिबंध प्लास्टिक पदार्थों पर सार्वभौमिक रूप से नहीं है। केवल सीमांत और लघु उद्यमियों द्वारा तैयार प्लास्टिक पर ही रोक लगाई गई है जबकि वे ऐसे प्लास्टिक उत्पाद बनाते है जिनकी रिसाइक्लिंग संभव है। दूसरी ओर कार्पोरेट कंपनियों के उत्पादों का पुनर्चक्रण नहीं हो सकता है।
मुत्तअरसन ने कहा छोटे उद्यमियों ने विविध तरीके से कर्जा लेकर अपना कारोबार चला रहे हैं। अचानक लगाई गई पाबंदी से उनकी रोजी खतरे में पड़ गई है। तमिलनाडु और पुदुचेरी प्लास्टिक कारोबारी संघ ने सरकार से कई बार गुहार भी लगाई लेकिन अनसुनी कर दी गई। १८ दिसम्बर को उनकी ओर से विराट विरोध रैली आयोजित की जाएगी।
हमारा आग्रह है कि बिना विलम्ब किए सरकार प्लास्टिक कारोबार में लगे पांच लाख से अधिक लोगों के हित में इस पर लगाई पाबंदी के बारे में फिर से विचार करे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned